Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

सपा में शामिल हुए हरिशंकर तिवारी के बेटे ने साधा निशाना, एक ट्वीट पर जेल भेज देती है यह सरकार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले बड़ा उलटफेर हुआ है। पूर्वांचल की सियासत में ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले बाहुबली हरिशंकर तिवारी के दोनों पुत्र रविवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गये। उन्हें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी की सदस्यता दिलायी। हरिशंकर तिवारी के बड़े बेटे पूर्व सांसद भीष्म शंकर उर्फ कुशल तिवारी, चिल्लूपार के विधायक विनय शंकर तिवारी के साथ ही विधान परिषद के पूर्व सभापति गणेश शंकर पांडे, संतकबीरनगर से भाजपा विधायक दिग्विजय नारायण चौबे उर्फ जय और बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी संतोष तिवारी और पायल किन्नर भी सपा में शामिल हो गई। पायल किन्नर ने सपा को समर्थन देने का वादा किया है और उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई गई है। पायल किन्नर को सपा किन्नर सभा का अध्यक्ष बनाया गया है।

समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के अवसर पर विनय शंकर तिवारी ने कहा है कि 2017 में जनता के बड़े समर्थन और उत्साह से उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी लेकिन इस सरकार ने लोकतंत्र नहीं राजतंत्र अपनाया। अगर कोई ट्वीट करता तो उसे जेल भेज दिया जाता है। लोगों के बोलने पर पाबंदी लगाई गई। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि काम किसी और का है पर पत्थर अपना लगवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस सरकार में ब्राह्मण समाज का लगातार अपमान किया गया है। वर्तमान बीजेपी सरकार ने एनकाउंटर की नीति अपनाई है।

उन्होंने कहा कि ब्राह्मण समाज पर बहुत ज्यादा अत्याचार हुए हैं। विनय तिवारी ने कहा कि वर्तमान समय में एनकाउंटर सरकार की पॉलिसी बन गई है। अब तो उत्तर प्रदेश में घोषित करके एनकाउंटर हो रहे हैं। विनय तिवारी ने कहा कि इस सरकार ने पिछली सरकार की योजनाओं का उद्घाटन किया है। सरकार ने समाज के बिखराव और लोगों को बांटने और विज्ञापन का काम किया। कहा जा रहा है कि तिवारी परिवार के सपा में शामिल होने से सपा पूर्वांचल में पहले से ज्यादा मजबूत हो गई है। वहां की कई अन्य पार्टियों से भी सपा का गठबंधन हो चुका है। ज्ञात हो कि ब्राह्म्ण बनाम ठाकुर की राजनीति के बीच हरिशंकर तिवारी परिवार का सपा में जाने से पूर्वांचल के समीकरण बदल सकते हैं। यह इलाका ब्राह्मण बहुल माना जाता है और हरिशंकर तिवारी पूर्वांचल में ब्राह्मणों के बड़े चेहरे हैं।

बीजेपी ने डिवाइड और रूल से राज किया : अखिलेश

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार साल से प्रदेश में भेदभाव से काम हुआ है। सरकार ने जाति-धर्म के आधार पर काम किया है। उन्होंने कहा कि अंग्रेजों के डिवाइड और रूल से बीजेपी ने राज किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी लोगों को डराकर-मारपीट कर राज कर रही है।

किससे है समाजवादी पार्टी का मुकाबला

सपा में अन्य दलों के नेताओं के शामिल होने से उत्साहित अखिलेश यादव ने कहा कि प्रतिष्ठित परिवार से जुड़े लोग समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। इससे सपा मजबूत हो रही है और सपा के मुकाबले कोई नहीं रह गया है। आज पार्टी कार्यालय भरा है। बहुत से लोग बाहर जमा है। उन्होंने कहा कि कहीं इतनी भीड़ देखकर बुलडोजर सरकार यहां न आ जाये। सपा प्रमुख ने कहा कि योगी सरकार चार साल से कह रही है कि टैबलेट मिलेगा लेकिन सरकार अपने संकल्प पत्र पूरे नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने आने के बाद अपना संकल्प पत्र खोलकर नहीं देखा है। सपा प्रमुख ने कहा कि मैं पूर्वांचल के साथियों को भरोसा दिलाता हूं कि जब सपा सरकार थी तब लगातार एक्सप्रेसवे और डिस्ट्रिक हेडक्वाटर को फोर लेन से जोड़ा है। बीजेपी सरकार ने कम गुणवत्ता का एक्सप्रेसवे बनाया ह। हम सरकार बनने पर गोरखपुर वाली सड़क बनाएंगे।

यह भी पढ़ेंः-सपा में आज शामिल होगा हरिशंकर तिवारी का कुनबा, BJP विधायक भी होंगे साइकिल पर सवार