मुश्किल समय में खाकी ने की मुस्लिम महिला की मदद, जवाब में महिला का शानदार तोहफा

कोरोनावायरस के संकट के बीच मंगलवार को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी ने लॉकडाउन का फैसला कर पूरे देश को 21 दिन का लॉकडाउन करार दिया. जिस वजह से जो जहां कहीं भी रहता है वह घर में पैक रहे बाहर न निकलें अन्यथा सख्त कार्यवाई की जाएगी. ऐसा इसलिए किया गया ताकि कोरोना वायरस की चैन को तोड़ा जा सके इसके संक्रमण के फैलने से रोका जा सके. लेकिन इस बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें एक प्रेगनेंट महिला प्रशासन से गुहार लगा रही है।

ये भी पढ़ें:-मजदूरों के लिए योगी सरकार ने बढ़ाए कदम, अब न होगी राशन की किल्लत और न होगी इन चीजों की परेशानी

दरअसल, बरेली की रहने वाली तमन्ना 9 महीने की प्रेग्नेंट थी और अपने घर अकेली थी. लॉक डाउन की वजह से उसके पति नोएडा में फंसे थे. दूसरी तरफ तमन्ना को दर्द शुरू हो गया था. तमन्ना को समझ नहीं आया कि वो क्या करे, लिहाजा उसने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो मैसेज डाला.

सोशल मीडिया पर डाले गए वीडियो में तमन्ना ने अपनी हालत बयान की कि, “”मेरे पति इस वक्त नोएडा में फंसे हुए हैं, वो वहां मजदूरी करने गए थे. हम बहुत गरीब परिवार से हैं. मैं और मेरे पति अकेले ही रहते थे. अभी कुछ ही दिन पहले मेरे पति नोएडा गए थे. मैं नौ महीने की गर्भवती हूं और इस वक्त मुझे अपने पति की बहुत जरूरत है. मैं आप सबसे हाथ जोड़ कर निवेदन करती हूं कि प्लीज मेरे पति को बरेली तक सही सलामत पहुंचवा दीजिए. मुझे उनकी जरूरत है. मेरे नौ महीने भी पूरे हो चुके हैं. ये देखिए मेरी अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट, मैं इसमें आपको दिखा सकती हूं, ये जो ईडीडी है, ड्यू डेट है वो 23 मार्च 2020 है आप देख सकते हैं ये मेरा अल्ट्रासाउंड है इस पर मेरा नाम है तमन्ना, इस पर 23 मार्च की तारीख है और 23 मार्च हो भी चुकी है आज 25 मार्च है. मुझे कभी भी हॉस्पिटल जाने की जरूरत पड़ सकती है और यहां मेरे साथ जाने वाला कोई भी नहीं क्योंकि मैं और मेरे पति अकेले ही रहते थे. प्लीज प्लीज मेरी मदद कीजिए.”

इस मैसेज के बाद योगी सरकार भी एक्शन में आ गई. बरेली पुलिस को महिला की मदद करने के निर्देश दिए गए. इसके बाद बरेली पुलिस के जरिए महिला की नोएडा पुलिस में बात कराई गई. नोएडा में एडिशनल DCP रणविजय ने तमन्ना के पति को खोज निकालने का जिम्मा उठाया. तमन्ना से उन्हें उसके पति का फोन नंबर पर मिला जिसके जरिए पुलिस उस तक पहुंच गई. इसके बाद नोएडा पुलिस ने बरेली पुलिस के साथ तालमेल बैठा कर उसके पति को बरेली पहुंचाया. इस बीच तमन्ना अस्पताल में भरती कराई जा चुकी थी जहां उसने एक प्यारे से बेटे को जन्म दिया.

दुनिया भर की खुशियां समेटे हुए तमन्ना ने सोशल मीडिया पर डाले अपने वीडियो में कहा, ”  मेरा नाम तमन्ना है, मैं बरेली की रहने वाली हूं. अब से कुछ ही वक्त पहले शायद चार या पांच घंटे पहले मैं मौत और जिंदगी से लड़ रही थी, मेरे हसबैंड नोएडा में फंसे हुए थे. और यहां मुझे लेबर पेन हो रहा था. मुझे हॉस्पिटल पहुंचाने वाला भी कोई नहीं था. और आज मेरा प्यारा सा बेटा है और मेरे हसबैंड मेरे पास हैं और ये सब पॉसिबल हुआ एसएसपी बरेली, बरेली पुलिस, कमिश्नर सर जो नोएडा की हैं और एडिशनल DCP रणविजय सर. वैरी स्पेशल थैंक्स यू टू ऑल ऑफ यू आप लोगों के प्रयास की वजह से मेरे हसबैंड बरेली आ पाए और मुझे हॉस्पिटल में एडमिट कर पाए और मैंने प्यारे से बेटे को जन्म दिया है. खाकी में भगवान हैं आप लोग सचमुच, बहुत बहुत शुक्रिया. आज आप लोगों की वजह से ही शायद मैं जिंदा हूं।

एडिशनल डीसीपी रणविजय ने तमन्ना की ऐसी तमन्ना पूरी की थी कि उसके बाद उसने वॉट्सऐप पर ये मैसेज भेजा कि, “मैं आपकी ताउम्र शुक्रगुजार रहूंगी, अगर मुझे बेटा हुआ तो मैं उसका नाम रणविजय रखूंगी”. ऊपर वाला शायद तमन्ना पर बहुत मेहरबान था कि उसने चौबीस घंटे के अंदर उसकी दो तमन्ना पूरी कर दी. पहली तमन्ना एडिशनल  DCP रणविजय के जरिए पूरी हुई जबकि दूसरी तमन्ना एक प्यारे से बेटे के जन्म के साथ पूरी हुई लेकिन ये तब संभव हो पाया जब लॉक डाउन की वजह से नोएडा में फंसा उसका पति पुलिस की मदद से बरेली लौट पाया.

बेटे के जन्म के बाद तमन्ना ने यूपी सरकार और नोएडा पुलिस को धन्यवाद दिया. उसने खासतौर से नोएडा में तैनात एडिशनल DCP रणविजय को उनकी मदद के लिए याद किया. इस पर तमन्ना ने सोशल मीडिया पर फिर से एक वीडियो मैसेज डाला लेकिन इस बार इस वीडियो में तमन्ना के साथ उसका नवजात बेटा और पति भी था.

ये भी पढ़ें:-रायबरेली के लिए जो सोनिया गांधी नहीं कर पाईं, वो जाते-जाते अरुण जेटली कर गए

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles