Monday, December 6, 2021

कानपुर मेट्रो को सीएम योगी ने दिखाई हरी झंडी, इन सुविधाओं का लुत्फ उठायेंगे यात्री

Must read

- Advertisement -

कानपुर। कानपुर वासियों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा तोहफा दिया है। प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक शहर कानपुर को मेट्रो की सौगात मिल गई है। मुख्यमंत्री योगी ने बुधवार को बटन दबाकर मेट्रो के पहले ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ ने बताया कि दिसंबर तक कानपुरवासी मेट्रो में सफर का लुत्फ उठायेंगे। 2019 में कानपुर मेट्रो की नींव रखी गई थी। कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन के बावजूद यूपी मेट्रो कारपोरेशन ने दिन रात की कड़ी मेहनत के बाद रिकॉर्ड समय में पहले चरण को पूरा कर दिया है। उम्मीद की जा रही है कि आईआईटी कानपुर और मोती झील के बीच करीब 9 किलोमीटर के स्ट्रेच में मेट्रो दौड़ने लगेगी। मेट्रो के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाने के बाद सीएम योगी ने मौजूद अधिकारियों और नेताओं को संबोधित किया। उन्होंने विपक्ष पर भी निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकारों में इच्छाशक्ति की कमी थी। पिछली सरकारों ने इच्छाशक्ति दिखाई होती तो कानपुर को मेट्रो पहले मिल जाता। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि उनकी सरकार में इसका शिलान्यास हुआ था और अब कानपुर के लोग मेट्रो का सफर कर सकेंगे।

- Advertisement -

kanpur metro cm

उन्होंने कहा कि मेट्रो से न सिर्फ लोगों के लिए आवागमन का एक विकल्प प्रस्तुत करेगा बल्कि इससे प्रदूषण पर भी नियंत्रण लगाने में मदद मिलेगी। ज्ञात हो कि पहले चरण के तहत यूपीएमआरसी ने आईआईटी से मोतीझील तक नौ किलोमीटर लंबा एलीवेटेड ट्रैक तैयार किया है। इस रूट पर नौ मेट्रो स्टेशन हैं जिसमें आईआईटी, कल्याणपुुर, एसपीएम, विश्वविद्यालय, गुरुदेव, गीता नगर, रावतपुर, हैलट, मोतीझील बनाए गए हैं। एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन की औसत दूरी एक किलोमीटर है।

kanpur metro cm yogi

कानपुर मेट्रो ट्रेन में एक बार में 974 यात्री यात्रा कर सकेंगे। ट्रेन 80-90 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी। कानपुर मेट्रो की प्रत्येक ट्रेन में 56 यूएसबी चार्जिंग पॉइंट और 36 एलसीडी पैनल्स लगाये गये हैं। ट्रेन में टॉक बैक बटन की भी सुविधा है, जिससे यात्री आपातकालीन स्थितियों में ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकेंगे। प्रत्येक मेट्रो में 24 सीसीटीवी कैमरे लगेंगे, जिनकी फुटेज ट्रेन ऑपरेटर और डिपो में बने सेंट्रल सिक्यॉरिटी रूम में पहुंचेगी। वायु प्रदूषण को कम करने के लिए ट्रेनों में मॉडर्न प्रॉपल्सन सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है।

यह भी पढ़ेंः-मिशन यूपी पर आज पीएम मोदी, गाजियाबाद को एयरपोर्ट और मेट्रो की देंगे सौगात

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article