गुडन्यूजः भारत को मिला कोरोना का इलाज, 40 मरीजों पर परीक्षण सफल, इस दवा को बनाने की मिली हरी झंडी

3543

चीन से फैली कोरोना महामारी (Corona epidemic) ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिया हुआ है हर कोई इस बीमारी से परेशान है. लाखों लोग इस बीमारी से संक्रमित हैं तो कई लोगों की वायरस की वजह से मौत हो चुकी हैं. मृतकों का आकंड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इसी बीच राहत की खबर ये आ रही है कि, भारत को कोरोना का इलाज मिल गया और इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवा को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने हरी झंडी भी दे दी है.

भारत को मिला कोरोना का इलाज
उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के सैफई चिकित्सा विवि (kanpur saifai PGi) ने कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए एलोपैथ और आयुर्वेद के घटक से एलोवैदिक बटी का निर्माण किया है और अच्छी बात ये है कि, जब इस दवा का प्रयोग कोरोना के बहुत ही गंभीर मरीजों पर किया गया तो परिणाम काफी अच्छे मिले.

बाजार में कब आएगी दवा
कोरोना के इलाज में सफल होने वाली दवा बाजार में कब तक आएगी इस बारे में चिकित्सा विवि के कुलपति कुलपति प्रो. राजकुमार ने मंगलवार को प्रेसवार्ता की. जिसमें उन्होंने बताया कि, कोरोना के इलाज में कारगर साबित हो रही दवा को पहले चरण में सिर्फ कोविड-19 अस्पतालों के लिए बनाया जाएगा और दूसरे चरण में बाजार में उपलब्ध कराई जाएगी. प्रेसवार्ता में उन्होंने जानकारी दी कि, ऋषिकेश के आयुर्वेदाचार्य योगीराज निर्वाण देव के साथ मिलकर और पूरी तरह से शोध करने के बाद ही राजनिर्वाण बटी को तैयार किया गया है. परिणाम में बेहतर मिले हैं.

40 कोरोना मरीजों पर परीक्षण
राजनिर्वाण बटी को बनाने के लिए आयुर्वेद के 12 और एलोपैथ के 1 घटक को मिलाकर काढ़ा तैयार किया गया और जब परिणाम अच्छे नजर आए तो उसे बटी के रूप में तैयार किया गया. इसके बाद 40 कोरोना के गंभीर मरीजों पर इसका प्रयोग किया गया जिसमें 9 मरीज 60 साल से ऊपर थे और 8 मरीज ऐसे थे जिन्हें दमा, शुगर, कैंसर और दिल की बीमारियां थीं. ayurvedic_kadhaदवा देने के बाद 5वें दिन 26 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई और 4 मरीज ऐसे जो 10वें दिन कोरोना मुक्त हो गए. फिलहाल 10 मरीजों का इलाज हो रहा है. उम्मीद है कि, वह भी जल्द स्वस्थ होकर घर लौट जाएंगे. कुलपति ने बताया कि, मरीजों की रिपोर्ट और दवा के बारे में आईसीएमआर को बताया तो उन्होंने दवा निर्माण के लिए अनुमति दे दी है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिए निर्देश
कानपुर के सैफई विवि की इस सफलता के बारे में प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जानकारी दे दी गई है. साथ ही स्वास्थ्य मंत्री को भी अवगत कराया गया है. सीएम और मंत्री ने कोविड-19 अस्पतालों के लिए दवा बनाने के निर्देश दिए हैं.
ये भी पढ़ेंः- कोरोना वायरस पर दुनिया के 511 वैज्ञानिकों ने दी राय, कहा- इनके आधार पर होगा फैसला