पुलिस अब कमलेश तिवारी हत्याकांड की गुत्थी पूर्णतया सुलझा चुकी है। पीड़ित परिवारों की मांग है कि अब आरोपियों को सख्त से सख्त सज़ा दिलवाई जाए। यहां हम आपको बता दें कि हत्या के चार दिन बाद गुजरात एटीएस ने इस नृशंस हत्याकांड को अंजाम देने वाले दोनों ही मुख्य आरोपियों को राजस्थान बॉर्डर के शामलजी से गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, जब गुजरात एटीएस ने हत्यारोपियों से सख्त पूछताछ की, तब उन्होंने अपना गुनाह भी कुबूल कर लिया। हत्या के पीछे की वजह मोहम्मद पैगंबर के खिलाफ की गई आपत्तिजनक टिप्पणी बताई गई है। दोनों ही हत्यारोपी अशफाक मोहम्मद और मोइनुद्दीन ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। ये भी पढ़े :कमलेश तिवारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी गिरफ्तार, कातिल अशफाक पर पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा

यहां हम आपको विस्तार से बताते चले कि 2015 में कमलेश तिवारी ने मोहम्मद पैगंबर को लेकर टिप्पणी की थी, जिसको लेकर हत्यारोपियों में रोष था। लिहाजा, उन्होंने अपने मौजूदा रोष को प्रकट करने के लिए कमलेश तिवारी को मौत के घाट उतारना गवारा समझा। कमलेश की इस विवादित टिप्पणी को लेकर उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी। उन पर रासूका भी लगाया गया था। हालांकि, 2017 में इलाहाबाद हाईकोर्ट के बाद में रासूका हटा लिया था।

गला रेतकर की दी थी हत्या
गौरतलब है कि हत्यारोपी अशफाक ने अपने रोष को प्रकट करने के बाबत कमलेश पर ताबरतोड़ चाकू से हमला कर दिया था, बाद में उसकी गला रेतकर हत्या कर दी गई। अशफाक एक मेडीकल कंपनी में रिप्रजेन्टिटिव था। वहीं, दूसरा आरोपी मोइनुद्दीन डिलीवरी बॉय का काम करता है। उसी ने कमलेश को गोली मारी थी। वहीं, इस हत्याकांड की जांच के सिलसिले में गुजरात एटीएस ने तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ की दो हत्यारोपियों को यूपी से भी गिरफ्तार किया था, लेकिन उन्हें पूछताछ के बाद रिहा कर दिया गया।

अभी तक 6 हत्यारोपी गिरफ्तार हो चुके हैं
पुलिस ने अभी तक इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें से तीन को पुलिस ने गुजरात से गिरफ्तार किया। वहीं, दो हत्यारोपियों को राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया है। वहीं, एक अन्य आरोपी को नागपुर से गिरफ्तार किया है। पीड़ित परिवार ने गुजरात एटीएस की जांच पर संतुष्टी जताई है। पीड़ित परिवार की एक ही मांग है कि इन सभी उक्त हत्यारोपियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। ये भी पढ़े :कमलेश तिवारी के हत्यारों ने किया बड़ा खुलासा, हत्या के पीछे बताया बड़ा कारण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here