kalyan singh

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल, भाजपा नेता कल्याण सिंह का शनिवार देर रात निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार थे। कल्याण सिंह के आवास पर उनके अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिक शरीर रखा गया है। राजनीतिक दलों के प्रमुख श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली से लखनऊ कल्याण सिंह के आवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। पीएम मोदी ने श्रद्धांजलि के बाद कहा कि कल्याण सिंह का नाम कल्याण सिंह उनके माता पिता ने रखा। कल्याण सिंह ने अपने नाम को सार्थक किया। जीवन भर जन कल्याण के लिए जिए और लोगों का कल्याण किया। उन्होंने जन कल्याण ही अपना जीवन मंत्र बनाया। बीजेपी, जनसंघ और पूरे परिवार को इस विचार के लिए, देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए समर्पित किया। कल्याण सिंह कोने- कोने में विश्वास का एक नाम बन गए थे। जीवन के अधिकतम समय में वे जनकल्याण के लिए प्रयत्नरत्न रहे। पीएम मोदी के साथ बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, मोहन भागवत और राधा मोहन सिंह, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी उपस्थित रहे। इस दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी ने कल्याण सिंह के परिजनों से भी मुलाकात की।

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह का शव लखनऊ स्थित उनके आवास पर ले जाया गया है,यहां लोग पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन कर रहे हैं। अंतिम दर्शन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री के पार्थिक शरीर को उनके पैतृक जिले अलीगढ़ ले जाया जाएगा। अतरौली के नरौरा में अंतिम संस्कार 23 अगस्त को होगा

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने जताया दुख

लालकृष्ण आडवाणी ने पूर्व सीएम कल्याण सिंह के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि मेरे करीबी और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह जी के निधन से मैं काफी दुखी हूं। कल्याण सिंह भारतीय राजनीति का चमकता सितारा और जमीनी नेता थे। उन्होंने कमजोर वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए काफी मेहनत की थी जिसके चलते वह लोगों के बीच काफी लोकप्रिय थे। कल्याण सिंह ने राज्य के बहुमुखी विकास में काफी योगदान दिया था। मैं राम जन्मभूमि आंदोलन के दौरान उनके साथ अपनी कई बातें याद करता हूं। अयोध्या मुद्दे को हल करने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, अभियान और ईमानदारी न केवल भाजपा के लिए, बल्कि उन सैकड़ों भारतीयों के लिए ताकत का एक बड़ा स्रोत थी, जो भगवान राम के भव्य मंदिर के अपने सपने को साकार करने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। कल्याण सिंह जी के निधन से एक गहरा शून्य बना है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। उनके प्रशंसकों और परिजनों के प्रति मेरी संवेदना।

राजघाट गंगा किनारे तैयारी शुरू

कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव अतरौली होते हुए कल बुलंदशहर नरौरा के राजघाट लाया जाएगा। सोमवार को गंगा घाट पर पूर्व सीएम कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार होगा। अंतिम संस्कार का स्थान नरौरा डिबाई विधासभा क्षेत्र का है स्थान, 1996 में यहीं से कल्याण सिंह विधानसभा चुनाव जीते थे। अंतिम संस्कार के लिये राजघाट गंगा किनारे तैयारी शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ेंः-UP के पूर्व सीएम और दिग्गज BJP नेता कल्याण सिंह का 89 साल की उम्र में निधन