JE ने कर्मचारी से की डिमांड, ‘ट्रांसफर चाहिए तो पत्नी भेज दो’, परेशान होकर लगाई आग

लाइनमैन की मौत से पहले का एक वीडियो डीएम महेंद्र बहादुर सिंह को मिला, जिसके बाद ही उन्होंने बिजली विभाग को जेई के सस्पेंड की संस्तुति और विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं.

0
734

उत्तर प्रदेश (UP) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में एक चौंकाने वाला केस सामने आया है. जहां पर बिजली विभाग में तैनात एक लाइनमैन ने जेई (JE) की प्रताड़नाओं से परेशान होकर खुद को आग लगा ली. इस दौरान उसकी मौत हो गयी. लखनऊ में उसका इलाज चल रहा था, जहां उसने दम तोड़ दिया. लाइनमैन की मौत से पहले का एक वीडियो डीएम महेंद्र बहादुर सिंह को मिला, जिसके बाद ही उन्होंने बिजली विभाग को जेई के सस्पेंड की संस्तुति और विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं.

लगाए गए गंभीर आरोप

प्राप्त जानकारी के हिसाब से पलिया इलाके के बमनगर क्षेत्र निवासी रामऔतार का 45 वर्षीय पुत्र गोकुल प्रसाद गोला के कुकरा में लाइनमैन के पद पर काम करता था. बीते 22 सालों से वह बिजली विभाग में ही लगा था. आरोपी जेई उसका लगातार ट्रांसफर करवाने में लगा हुआ था. इस घटना के बारे में परिजनों ने कहा कि जूनियर इंजीनियर ट्रांसफर रोकने के लिए काफी रुपयों की मांग कर रहा था और उसे लगातार मानसिक रूप से टॉर्चर भी किया जा रहा था. तो वहीं गोकुल की पत्नी ने इस बारे में कहा है कि उनके पति JE की वजह से काफी तनाव में थे उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी पर पुलिस ने कोई भी सुनवाई नहीं हुई.

पत्नी को पास भेजने का प्रस्ताव

लाइनमैन ने मौत से पहले जेई के खिलाफ बयान दिया है. लाइनमैन ने वीडियो में बोला है कि जेई और उसके दलाल ट्रांसफर के बदले में मेरी पत्नी मांग रहे हैं. मैंने थाने में भी नंबर देकर शिकायत दर्ज कराई थी, पर इस मामले कुछ भी नहीं हुआ. एसएसपी संजीव सुमन ने सोमवार को इस बारे में कहा कि, ‘लखनऊ में आत्मदाह करने वाले एक लाइनमैन की इलाज के दौरान मौत हो गई. लाइनमैन का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह एक सीनियर पर आरोप लगा रहा था.’

दर्ज हुआ मामला

अब इसी लाइनमैन की सुसाइड मामले को लेकर पलिया कोतवाली में धारा 504, और 306 के तहत केस दर्ज किया गया है. तो वहीं बिजली विभाग के अधिकारी कुछ भी बोल नहीं पा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें-Parliamentary Board में जल्द ही होगी CM योगी की एंट्री! अभी भी खाली 4 पद