Lakhimpur

लखनऊ। लखीमपुर खीरी में 12 अक्टूबर मंगलवार को दिवंगत किसानों की आत्मा की शांति के लिए अंतिम अरदास कार्यक्रम आयोजित है। किसान संयुक्त किसान मोर्चा के किसान आंदोलन को देखते हुए प्रदेश के 20 संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त पुलिस फोर्स के साथ पुलिस अधिकारी भी तैनात कर दिए गए हैं।
लखीमपुर जिले में संवेदनशीलता को देखते हुए आईजी रेंज लखनऊ व एडीजी जोन के अलावा 10 अन्य पुलिस अफसरों को भी तैनात किया गया है। सभी को रविवार रात आदेश जारी कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में आगामी त्यौहार और किसान आंदोलनों के मद्देनजर सभी पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। दूसरी ओर संयुक्त किसान मोर्चा के किसान आंदोलन को देखते हुए प्रदेश के 13 जिलों में 20 सीनियर पुलिस अफसर भी तैनात किए गए हैं। प्रदेश सरकार ने सम्भावित आंदोलन को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है।

lakhimpur

इन अफसरों की तैनाती

लखीमपुर खीरी में 2 आईपीएस, आईजी लक्ष्मी सिंह, एडीजी एसएन साबत, बरेली में एडीजी अविनाश चंद्र, मेरठ में एडीजी मेरठ जोन राजीव सब्बरवाल, बहराइच में 3 आईपीएस, एडीजी अखिल कुमार, आईजी राकेश सिंह, डीआईजी पीएसी आशुतोष शुक्ला, गाजियाबाद में आईजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार, शामली में आईजी रेलवे सत्येंद्र कुमार सिंह, पीलीभीत में 3 अफसर, आईजी बरेली रमित शर्मा, एसपी 112 अजय पाल, एडिशनल एसपी अनिल कुमार झा, मुजफ्फरनगर में आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल, अमरोहा में डीआईजी विजिलेंस एलआर कुमार, शाहजहांपुर में 2 अफसर डीआईजी रविशंकर छवि और डिप्टी कमांडेंट राम सुरेश, मुरादाबाद में डीआईजी शलभ माथुर, बिजनौर में दो अफसर, डीआईजी राम लाल वर्मा और उप सेनानायक हरेंद्र कुमार, रामपुर में उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को किसान आंदोलन के लिए तैनात किया गया है।

आईजी व एडीजी के अलावा 10 पुलिस अधिकारी तैनात

लखीमपुर में कार से रौंदने से 4 किसानों की मौत के बाद संवेदनशीलता बढ़ गयी है। लखीमपुर में आईजी व एडीजी के अलावा 10 पुलिस अफसरों को अलग से तैनात किया गया है। लखीमपुर में तैनात किए गए यह सभी 10 अफसर किसान आंदोलन के बाद भी हालात सामान्य होने तक तैनात रहेंगे। लखीमपुर में जिन अफसरों को नोडल अधिकारी बना कर भेजा गया है। उनमें डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, आईपीएस सुनील कुमार सिंह हिमांशु कुमार, एडिशनल एसपी दिनेश त्रिपाठी, हरगोविंद मिश्रा सच्चिदानंद राय अरविंद पांडे व सीओ शैलेंद्र सिंह अनिल कुमार सिंह और राजेश कुमार पांडे भी लगाए गए हैं।

पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद

किसान आंदोलन के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में जहां पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द की गई हैं। गृह विभाग ने सभी जिलों के डीएम एसपी को त्योहारों और किसान आंदोलन के मौके पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं। जारी किए गए निर्देश में साफ तौर पर लिखा है कि जिले के अधिकारी किसान नेताओं से संपर्क कर कहीं भी इकट्ठा ना होने दें। पर्याप्त सुरक्षा बल लगाया जाये। अन्य प्रदेशों के सीमावर्ती जिलों पर बैरियर लगाई जाए ताकि भीड़ इकट्ठा ना होने सके। किसान संगठनों के आयोजन पर नजर रखी जाए। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाये।

यह भी पढ़ेंः-लखीमपुर कांड पर हमलावर हुए ओवैसी, पूर्वनियोजित था किसानों का रौंदा जाना