yogi adityanath

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शनिवार को हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भारी सफलता मिली है। पार्टी ने विपक्षी दल समाजवादी पार्टी को काफी पीछे छोड़ते हुए 825 ब्लॉकों में 648 पर जीत हासिल की है। दूसरे दलों को बहुत मामूली कामयाबी ही मिली है। ज्ञात हो कि शनिवार को मतदान के दौरान 17 जिलों में सपा-भाजपा के कार्यकर्ताओं में झड़प भी हुई। इटावा में एसपी सिटी को थप्पड़ मारने का मामला आया। प्रदेश के 476 ब्लॉक प्रमुख पदों पर शनिवार को मतदान हुआ। निर्विरोध चुने गए 349 उम्मीदवारों में भी अधिकांश भाजपा के ही प्रत्याशी रहे। पूर्वान्ह 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान के बाद मतगणना शुरू हुई। जो देर रात तक जारी रही। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव नतीजे आने के बाद भाजपा मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि कि पंचायत चुनाव में भाजपा की शानदार जीत मोदी सरकार के सात साल व उत्तर प्रदेश सरकार के साढ़े चार साल के बेहतरीन कामकाज का नतीजा हैं।

मुख्यमंत्री के साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल आदि पदाधिकारी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता का रुझान भाजपा के साथ है। पार्टी की रणनीति कामयाब रही। भाजपा ने ब्लाक प्रमुख के 825 में से 735 पदों पर उम्मीदवार उतारे थे। 14 सीटों पर सहयोगी दलों को चुनाव लड़ाया था। कुछ जगह दोनों कार्यकर्ता बीजेपी के ही लड़ रहे थे। उन्होंने जीते हुए प्रत्याशियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप योजनाएं बनाई गईं।

उन्होंने कहा कि जीत सरकार व संगठन के टीम के कारण संभव हो सकी है। भाजपा कार्यकर्ताओं और जनप्रतिनिधियों ने संगठन की रणनीति के तहत काम किया, जिसके कारण भाजपा 67 जिला पंचायत अध्यक्ष पदों पर विजयी हुई। ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भी पार्टी की भारी जीत मिली है। इस विजय के लिए पार्टी के सभी कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं।

ब्लॉक प्रमुख चुनाव
कुल सीट- 826
चुनाव हुए- 825
भाजपा (सहयोगी एवं समर्थित सहित)ः 648
सपा- 90
अन्य- 77
अपना दल (एस)-9, बसपा-5, कांग्रेस-4, भाकियू-2, रालोद-4, जनसत्ता दल-5, प्रसपा-3, निर्दलीय-45)

यह भी पढ़ेंः-ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हिंसा पर नाराज पप्पु यादव ने कहा, बाबू अखिलेश यादव जी, आप से न हो पाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here