pregnant women

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक खौफनाक मामला आया है। पति ने तलाक के लिए गर्भवती पत्नी को इंजेक्शन देकर एचआईवी संक्रमित कर दिया। इस मामले में पीड़ित युवती के पिता की तहरीर पर लोधा थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। रामघाट रोड के एक नर्सिंग होम में यह साजिश रचे जाने और ससुराल पक्ष के रिश्तेदार नर्सिंग होम संचालक परिजन भी आरोपी बनाए गया हैं। फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल में जुटी है।
ज्ञात हो कि युवती की शादी 7 दिसंबर 2020 को शहर के रामघाट रोड इलाके के संविदा हेल्थ वर्कर युवक संग की गई। पीड़ित युवती का आरोप है कि शादी में 12 लाख नकद व 25 लाख रुपये का अन्य तरह का दहेज दिया गया था। शादी के बाद युवती जब ससुराल पहुंची तो उसे पता चला कि उसके पति के साथ काम करने वाली किसी महिला हेल्थ वर्कर संग रिश्ते हैं। इस महिला के साथ उसका करीबी रिश्ता है। इसके चलते कुछ दिन बाद ही विवाद शुरू हो गया।
आरोप है कि कुछ दिन बाद फिर तलाक की साजिश रची जाने लगी। इस पर फिर मायके वाले गए तो ससुरालियों ने कहा कि तलाक करा दें। दोनों में पट नहीं रही है। यह बीमार भी रहती है। इस पर मायके पक्ष ने दलील दी कि पहले कभी कोई बीमारी नहीं थी। अब चूंकि गर्भवती हो गई है तो थोड़ा बहुत परेशानी होना तो सामान्य बात है। इसके बाद 4 अगस्त को गर्भवती युवती को उसका पति मायके में गांव के बाहर छोड़कर चला गया।

कई आरोपियों की है तलाश

मायके पहुंचने पर जो उसने बताया, उसे सुन सभी हैरान रह गये। युवती ने बताया कि गर्भवती होने के कुछ दिन बाद उसका पति व जेठ उसे एचआईवी संक्रमित करने की साजिश रचने लगे। युवती ने बताया कि पति के बहनोई के परिजन का रामघाट रोड पर नर्सिंग होम है, जिसमें ले जाकर उसे इलाज के नाम पर इंजेक्शन (टीके) लगवाए जाते थे। उन्हीं टीकों के लगने से वह एचआईवी संक्रमित हो गई है. पुलिस आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ेंः-Sex और Makeup में से Disha Patani देती है इस चीज को तवज्जो, बड़ी बेबाकी से दिया ऐसा जवाब