Categories
उत्तर प्रदेश लखनऊ

वर्चुअल रैली के नाम पर भारी भीड़, अखिलेश और स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम पर DM सख्त

  • जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने दिये जांच के आदेश
  • मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस टीम पहुंची सपा कार्यालय

लखनऊ। स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ छह और विधायक समाजवादी पार्टी में शामिल हो गये हैं। सपा ने इस कार्यक्रम को वर्चुअल रैली का नाम दिया था लेकिन वहां भारी भीड़ मौजूद रही। इस वजह से अब अखिलेश यादव मुश्किल में फंस सकते हैं क्योंकि लखनऊ के जिलाधिकारी ने इस पर जांच के आदेश दे दिए हैं। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश का कहना है कि समाजवादी पार्टी का कार्यक्रम बिना अनुमति के हो रहा है। सूचना मिलने पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस टीम को समाजवादी पार्टी के कार्यालय भेजा गया है। रिपोर्ट के आधार पर जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

ज्ञात हो कि स्वामी प्रसाद मौर्य समेत बाकी नेताओं ने जब सपा का दामन थामा तब वहां भारी संख्या में भीड़ थी। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक लगा रखी है। चुनाव आयोग के निर्देश के बाद वर्चुअल तरीके से ही प्रचार होना है। रैली और रोड शो दोनों पर पाबंदी है। ज्ञात हो कि सपा कार्यालय में वर्चुअल रैली के नाम पर कार्यक्रम हुआ, जिसमें काफी भीड़ उपस्थित रही।

चुनाव आयोग की गाइडलाइंस का पालन होगा : अखिलेश

सदस्यता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि वह चुनाव आयोग की बनाई गाइडलाइंस का पालन भी करेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि किसी ने नहीं सोचा था कि चुनाव ऐसा भी होगा। अब वर्चुअल रैली की बात है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म से हमें अपनी बात कहनी है। ये सही है कि वर्चुअल और डिजिटल में भी हम चीजों को जानते हैं लेकिन जो ताकत हमारे कार्यकर्ताओं में फिजिकली है, उसका कोई मुकाबला नहीं कर सकता है। अगर ये लोग डिजिटल-वर्चुअल चलेंगे तो हम समाजवादी लोग डिजिटल-वर्चुअल और फिजिकल भी चलेंगे। घर-घर, गांव-गांव जाएंगे। इस दौरान अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं को उत्साह बढ़ाया।

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि किसी ने नहीं सोचा था पारम्परिक चुनाव प्रचार, सभा, रैली पर पाबंदी लग जाएगी। हम लोग चुनाव आयोग के नियमों, गाइडलाइंस का पालन करेंगे लेकिन इस बीजेपी को हम मौके पर फिजिकल मुकाबले करेंगे। यही हमारी ताकत है। यही चुनाव फाइनल है। किसी ने नहीं सोचा था कि मौर्य जी अपनी पूरी टीम के साथ सपा में आ जाएंगे। उनके साथ आने से समाजवादी पार्टी मजबूत हुई है।

यह भी पढ़ेंः-छह MLA के साथ स्वामी प्रसाद मौर्य ने की साइकिल की सवारी, अखिलेश ने दिलायी सदस्यता