Categories
उत्तर प्रदेश

बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर मथुरा में भारी सुरक्षा, विशेष अलर्ट के साथ के ये निर्देश

मथुरा। अयोध्या में 6 दिसंबर बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी को देखते हुए हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मथुरा में भी इसको लेकर विशेष अलर्ट के साथ सुरक्षा व्यवस्था विशेष निर्देश दिया गया है। 6 दिसंबर से पहले भगवान श्रीकृष्ण के धाम मथुरा में पुलिस की चप्पे-चप्पे पर तैनाती है। पुलिस ने 6 दिसम्बर के मौके पर किसी को भी किसी तरह के आयोजन की अनुमति नहीं दी है। मथुरा वृन्दावन के बीच चलने वाली रेल बस का आवागमन भी रोक दिया गया है। मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने पूरे मथुरा में सुरक्षा का विशेष घेरा तैयार रखते हुए जवानों को पल पल पर नजर रखने को कहा है। मथुरा में कोई शरारती हरकत न हो इसको लेकर सख्त हिदायत भी दे दी गई है। एसएसपी के मुताबिक कुछ हिंदूवादी संगठनों द्वारा छह दिसंबर को परंपरा से हटकर कार्यक्रमों के आयोजन की अनुमति मांगी जा रही थी। किसी कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गयी है।

mathura 1

मथुरा वृन्दावन के बीच नहीं चलेगी रेल बस

सुरक्षा के लिहाज से रेलवे ने भी बड़ा कदम उठाया है। मथुरा वृन्दावन के बीच चलने वाली रेल बस का आवागमन अगले आदेश तक रोक दिया है। यह रेल बस ईदगाह के सामने और श्रीकृष्ण जन्मस्थान के पास से होकर गुजरती है। प्रशासन ने किसी भी कमजोर कड़ी को नहीं छोड़ा है जिससे की शांति व्यवस्था भंग होने के हालात बनें।

तीन जोन में बंटा मथुरा

प्रशासन ने इलाके को रेड, येलो और ग्रीन जोन में बांटा है। उसी तरह से उन इलाकों में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई हैं। दोनों धर्मस्थलों के 300 मीटर क्षेत्र में बने रेड जोन पर आने जाने वालों पर नजर रखी जा रही है। सुरक्षा को देखते हुए बाहर से भी पुलिस बल बलाया गया है।

इन संगठनों को नहीं दी गई अनुमति

सुरक्षा को लेकर जन्मभूमि स्थल से करीब 500 मीटर दूरी तक विशेष सुरक्षा घेरा तैयार किया गया है। पुलिस की नजर आसपास के मकानों के साथ हिंदूवादी संगठनों पर भी है। 6 दिसंबर को नारायणी सेना, श्रीकृष्ण जन्मभूमि नर्मिाण न्यास, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति दल की ओर से परंपरा से हटकर अलग अलग कार्यक्रम करने की घोषणा की थी। इन संगठनों को प्रशासन ने कोई अनुमति नहीं दी है।

सख्त सुरक्षा में मथुरा

मथुरा में पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। सुरक्षा को लेकर व्यूह रचना कर ली गई है। 6 दिसम्बर के लिए अभी से पांच अपर पुलिस अधीक्षक, 14 पुलिस उपाधीक्षक, 40 इंस्पेक्टर, 1400 हेडकांस्टेबल व कांस्टेबल, 10 कम्पनी पीएसी एवं 16 कम्पनी आरएएफ लगाई गई है। इसके अलावा खुफिया एजेंसियां मुस्तैद हैं।

यह भी पढ़ेंः-कंगना रनौट का मथुरा से हुंकार, राष्ट्रवादी पार्टी के लिए करेंगी चुनाव में प्रचार