हाथरसः इंसाफ दिलाने की आड़ में दंगा भड़काने की साजिश, षडयंत्र में भीम आर्मी शामिल

55
hathras-case

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में दलित युवती के साथ गैंगरेप के बाद हत्या का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. मामले पर एक बड़ी साजिश के संकेत भी सामने आए हैं जिससे हड़कंप मच गया है. मामले की जांच कर रही एजेंसियों को पता चला है कि हाथरस के बहाने यूपी में बड़ा दंगा कराने की साजिश रची रही थी. जिसकी जानकारी वक्त रहते एजेंसियों को मिल गई. जांच में कई चेहरे उजागर हुए हैं और जांच एजेंसियों को पूरे घटनाक्रम में भीम आर्मी से लेकर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया और विदेशी फंडिंग से लेकर खनन माफिया तक के कनेक्शन जुड़े होने के संकेत मिले हैं. जो वाकई हैरान कर देने वाले हैं. उधर यूपी पुलिस का दावा है कि, यूपी में हिंसा की आग भड़काने के लिए विदेशों से पैसे जा रहे थे.

हाथरस के बहाने बड़ी साजिश
यूपी पुलिस का दावा है कि, हाथरस की दलित युवती को इंसाफ दिलाने की आड़ में बड़ी साजिश को अंजाम देने की तैयारी की जा रही थी और जांच में सामने आई जानकारियों के बाद पुलिस एक्शन में है. पुलिस इस पूरे मामले की निगरानी कर रही है और साजिश रचने वालों पर नकेल कसने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है. इस पूरे मामले पर पीएफआई के मुखपत्र के संपादक को गिरफ्तार किया गया है.

रिमांड पर लेने की तैयारी
पीएफआई के मुखपत्र के संपादक शाहीन बाग के पीएफआई दफ्तर के सचिव भी हैं और यूपी पुलिस उन्हें रिमांड पर लेने की तैयारी में हैं. क्योंकि पुलिस को लगता है इनको रिमांड पर लेने से साजिश की सही जानकारी सामने आएगी. वैसे जांच एजेंसियों के हाथ ऐसे भी सबूत लगे हैं जो इस साजिश में भीम आर्मी का नाम शामिल होने की तरफ इशारा कर रहे हैं. जांच एजेंसियों द्वारा किए गए खुलासे से यूपी में हड़कंप मच गया है और पुलिस भी एक्शन में आ गई है.

विदेशों से पैसा
हाथरस मामले की जांच जिस रफ्तार से आगे बढ़ रही है उसमें कई नए खुलासे हो रहे हैं. हिंसा के साथ-साथ एक खुलासा ये भी हुआ है कि यूपी में दंगा भड़काने के लिए विदेशों से पैसे भेजे जा रहे थे और पुलिस ने सभी संदिग्धों की बैंक ट्रांजेक्शन की जांच शुरु कर दी है. संकेत ऐसे भी मिले हैं कि, यूपी में हिंसा करने के लिए पीएफआई ने भीम आर्मी को शामिल किया और फंडिंग की. इन सबके अलावा पुलिस को पश्चिमी यूपी के एक खनन माफिया के भी मामले में फंडिंग के सुराग मिले हैं. ये सभी जानकारियां सामने आने के बाद माना जा रहा है कि यूपी में बहुत बड़ी साजिश रची रही थी और इसमें कई लोगों के नाम शामिल हो सकते हैं. जिसकी जांच एजेंसियां और यूपी पुलिस मिलकर कर रही हैं.

ये भी पढ़ें- हाथरस केस: PFI का नाम आया सामने, तो गुस्से से तिलमिला गए ओवैसी, योगी सरकार से किए ऐसे तीखे सवाल