हाथरस कांडः एक्शन में CM योगी! दोषियों को मिलेगा ऐसा दंड, कांप उठेंगे अपराधी

1132
CM Yogi action on Hathras kand

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित लड़की के साथ हुए गैंगरेप और फिर उसकी मौत के बाद से ही देश गुस्से से उबल रहा है. सड़कों से लेकर सोशल मीडिया तक आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई और सजा की मांग हो रही है. विपक्षी दल भी योगी सरकार पर लगातार हमला बोल रहे हैं. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ट्विटर अकाउंट से एक ऐसा ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने समूल नाश सुनिश्चित का संकल्प लिया है. बता दें, इस घटना को लेकर पीएम मोदी ने भी फोन पर सीएम योगी से बातचीत की थी और सख्त कार्रवाई करने को कहा था.

दोषियों को मिलेगा ऐसा दंड..
सीएम योगी ने आलोचकों को जवाब देने की कोशिश में किए गए ट्वीट में लिखा, “उत्तर प्रदेश में माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने का विचार मात्र रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है. इन्हें ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्य में उदाहरण प्रस्तुत करेगा. आपकी @UPGovt प्रत्येक माता-बहन की सुरक्षा व विकास हेतु संकल्पबद्ध है. यह हमारा संकल्प है-वचन है.” सीएम योगी के इस ट्वीट से साफ है कि वह हाथरस की बिटिया को इंसाफ दिलाने के लिए ऐसी कार्रवाई करेंगे जिसके बाद कोई भी अपराधी ऐसी घिनौनी हरकत करने से पहले सौ बार सोचेगा.

विपक्षी दलों का धरना जारी
हाथरस कांड के बाद से ही विपक्षी दलों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया. एक तरफ यूपी में लगातार रेप की खबरें सामने आने से जनता गुस्से में है तो दूसरी तरफ राजनीतिक दल राजनीति करने में जुटे हुए हैं और जमकर योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं. कई विपक्षी दलों ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने की कोशिश की मगर उन्हें यूपी पुलिस ने रोक दिया. जिस पर काफी बवाल हो रहा है. गुरुवार को ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी दिल्ली से काफिले के साथ हाथरस के लिए निकले थे. लेकिन उन्हें यमुना एक्सप्रेस-वे पर रोक दिया गया था. इसके बाद शुक्रवार को तृणमूल (टीएमसी) के नेताओं ने भी गांव जाने की कोशिश की. मगर पुलिस ने जाने की इजाजत नहीं दी. इस वजह से दोनों के बीच धक्का-मुक्की हुई और टीएमसी सांसद डेरेक ओ’ब्रायन गिर पड़े. जबकि तृणमूल की नेता ममता ठाकुर ने यूपी पुलिस पर बदसूलकी करने का आरोप लगाया है और कहा कि महिला पुलिसकर्मियों ने ब्लाउज खींचे.

फिलहाल हाथरस में धारा-144 लगी हुई है और पीड़िता के गांव में मीडिया को भी जाने की परमिशन नहीं दी जा रही है. इसके अलावा पुलिस गांव में रहने वाले लोगों से भी आईडी दिखाने को बोल रहे हैं. यानि जिन लोगों के पास गांव की आईडी होगी वही लोग गांव में एंट्री कर सकेंगे लेकिन बाहर का कोई व्यक्ति नहीं आ सकेगा. पुलिस प्रशासन के इस रवैये से गांव में और पूरे प्रदेश में गुस्से का माहौल है.

ये भी पढ़ेंः- सीएम योगी को जान का खतरा, व्हॉट्सएप नंबर पर मिली धमकी, एक्शन में पुलिस