Friday, December 3, 2021

धारदार हथियार से दलित परिवार के चार लोगों की हत्या, परिजनों ने POLICE पर लगाये गंभीर आरोप

Must read

- Advertisement -

प्रयागराज। संगम नगरी प्रयागराज में बहुत ही नृशंस तरीके से एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गयी है। हत्या के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार निवासी फूलचंद, उनकी पत्नी मीनू, 17 बेटी सपना और 12 साल के बेटे शिव की धारधार हथियार से हत्या की गयी है। बताया जा रहा है कि सभी की कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतारा गया है। हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी है। डॉग स्क्वाड और फॉरेंसिक टीम भी मौके पर साक्ष्य जुटाने में लगी हुई है। सीओ सोरांव, एसओ फाफामऊ के साथ होलागढ़, सोरांव, नवाबगंज और थरवई थाना पुलिस घटना स्थल पर हैं।

- Advertisement -

Dalit hatya 1

मृतक के परिजनों ने पुलिस प्रशासनपर गंभी आरोप लगाया है। परिजनों ने कहा कि पुलिस से बार-बार अनहोनी की आशंका की शिकायत की गयी थी लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। परिजनों ने कहा कि भूमि विवाद में रंजिशन यह हत्या की गई। उन्होंने कहा कि सुशील कुमार और उनके समधी द्वारा लगातार धमकी दी जा रही थी। रंजिश में कई बार घर में घुसकर मारपीट भी की गई और गोली भी चली है। इसकी शिकायत पुलिस से भी की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस की लापरवाही का नतीजा है कि एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई। परिजनों का आरोप है कि हत्या के पीछे मोहल्ले के ठाकुर परिवार का हाथ है। परिजनों ने आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग भी की।

एसएसपी ने कही जल्द खुलासे की बात

एसएसपी प्रयागराज सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि फाफामऊ के घर से चार लोगों की हत्या हुई हैं। तीन शव आगे के कमरे में थे और एक लड़की का शव अंदर कमरे में था। सभी के सिर पर चोट के गंभीर निशान मिले हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। आगे की कार्रवाई और जांच की जा रही है. अभी जो सूचना मिली है कि मृतक परिवार के द्वारा 2019 और 2021 में जमीन विवाद को लेकर कुछ लोगों पर एससी-एसटी एक्ट का मुकदमा करवाया गया था। इस मामले में कार्रवाई न होने का परिजनों ने आरोप लगाया है। एसएसपी ने कहा कि इस मामले में दोषी पुलिस वालों पर भी जांच के बाद कठोर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः-खीमपुर हत्याकांड जांच की निगरानी के लिए हाईकोर्ट के पूर्व जज नियुक्त, SIT में तीन IPS शामिल

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article