UP: खुद को IPS अधिकारी बताकर महिलाओं को भेजता था अश्लील Video, 2010 के दंगों में था शामिल

0
233
fakeiasofficer
Loading...

देश में लगातार अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं। अपराधी अब नये-नये तरीकों से लोगों को फंसाने लगे हैं। अब उत्तर-प्रदेश का ये मामला ही देखिए, जहां एक युवक फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर महिलाओं को सरकारी नौकरी का झांसा देकर फंसाने की कोशिश करता था और छेड़खानी करता था। इस युवक को पुलिस ने रविवार को गुड़गांव के एक गांव से हिरासत में लिया है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी शख्स यूपी के कुशीनगर जिले का रहने वाला है। जिसका नाम गौरी शंकर है और उम्र 38 साल है। युवक के ऊपर आईपीसी की धारा 354अ के तहत (महिलाओं से छेड़छाड़)का मामला दर्ज किया गया है।

महिलाओं को अश्लील मैसेज भेजकर करता था परेशान
पुलिस की मानें तो आरोपित शख्स गौरी शंकर महिलाओं को परेशान करने के लिए अश्लीलता से भरे मैसेज और वीडियो भेजता था और खुद को आईपीएस अधिकारी बताता था। साथ ही महिलाओं को भरोसे में लेने के लिए सरकारी नौकरी का लालच देता था।

मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि, पहली बार ये मामला 25 नवंबर को उजागर हुआ जब दक्षिणी दिल्ली के कोटला मुबारकपुर इलाके की एक महिला ने शिकारत दर्ज कराई। उस वक्त महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि, एक शख्स बीते महीने से उसके फोन पर अश्लील मैसेज, वीडियो परेशान कर रहा है साथ ही फोन पर गालियां भी दे रहा है। युवती की शिकायत पर जब शख्स के नंबर पर कॉल की गई तो शख्स ने खुद को आईपीएस अधिकारी बताया। जांच करने पर पता चला कि, युवक ने फर्जी आईडी पर नंबर खरीदा था या फिर किसी दूसरे का नंबर उपयोग कर रहा था। क्योंकि, नंबर के बारे में जो जानकारी मिली है उसके आधार पर युवक गुजरात के आनंद जिले का है।

सिम कार्ड की थी युवक की दुकान
पुलिस हिरासत में युवक ने खुलासा किया कि, उसकी एक सिम कार्ड की दुकान है जो कुशीनगर में थी। इसी कारण उसके पास कई फोन नंबर थे। लेकिन, एक दुर्घटना के कारण उसे 4 साल पहले दुकान बंद करनी पड़ गई। इसके बाद युवक ने दिल्ली आकर सुरक्षा गार्ड की नौकरी शुरू की। बता दें, आरोपी शख्स 2010 में कुशीनगर में हुए दंगों में भी शामिल था। युवक शादीशुदा है और 2 बच्चों का पिता है। फिलहाल पुलिस सभी पीड़ित महिलाओं से संपर्क करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

ये भी पढ़ेंः- सावधान : कहीं आपकी गाड़ी के नंबर का गलत इस्तेमाल तो नहीं हो रहा है, ऐसे हो रहा फर्जीवाड़ों का खुलासा

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here