man burn

वाराणसी। दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह करने का प्रयास के तार उत्तर प्रदेश के कई जिलों से जुड़ा है। वाराणसी, मऊ के साथ गाजीपुर का भी नाम आ रहा है। मऊ के घोसी सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली वाराणसी के यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा और उसके साथी और गाजीपुर निवासी युवक ने नई दिल्ली स्थित सुप्रीम कोर्ट के बाहर फेसबुक पर लाइव वीडियो शेयर करते हुए आत्मदाह का प्रयास किया है। फेसबुक लाइव कर आत्मदाह की कोशिश पर देश में हड़कम्प की स्थिति हो गयी। आत्मदाह की कोशिश सुप्रीम कोर्ट के बाहर की गयी थी। पेट्रोल छिड़ककर खुद को आग लगाकर आत्मदाह करने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। घटना से पहले पीड़िता और उसके साथी ने फेसबुक पर लाइव आकर प्रशासन पर कई आरोप लगाए। ज्ञात हो कि अभी हाल ही में वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने पीड़िता के खिलाफ धोखाधड़ी मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया था। पिछले दो साल से दुष्कर्म के आरोप में घोसी सीट से बसपा सांसद प्रयागराज के जेल में बंद हैं। माना जा रहा है कि इस मामले में परोक्ष दबाव काम कर रहा है।

लाइव वीडियो में पीड़िता और उसके साथी ने वाराणसी पुलिस के तत्कालीन अफसरों और न्याय व्यवस्था को कोसते हुए यह कदम उठाया। पीड़िता वाराणसी पुलिस के कार्र्याें से असंतुष्ट है। फिलहाल गंभीर अवस्था में सत्यम को नई दिल्ली स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घोसी लोकसभा सीट से सांसद अतुल के खिलाफ बलिया की रहने वाली पीड़िता ने एक मई 2019 को वाराणसी के लंका थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। उदय प्रताप कॉलेज की छात्रा रह चुकी पीड़िता का आरोप है कि अतुल राय ने सात मार्च 2018 को उसे लंका स्थित अपने फ्लैट में पत्नी से मिलाने के बहाने बुलाया था। इस दौरान उन्होंने धोखा दिया। वहां पहुंचने पर उसके साथ दुष्कर्म किया गया और अश्लील वीडियो भी बना लिया गया।

पीड़िता के खिलाफ धोखाधड़ी मामले में जारी हुआ था एनबीडब्ल्यू
घोषी सांसद अतुल राय के खिलाफ दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली पीड़िता के खिलाफ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट भारतेंद्र सिंह की अदालत ने धोखाधड़ी मामले में गैर जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) जारी किया है। दो अगस्त को अदालत ने यह आदेश वाराणसी कमिश्नरेट की कैंट पुलिस की ओर से दिए गए प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के बाद दिया था।

यह भी पढ़ेंः-आजम खां और उनके बेटे को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत, चार सप्ताह में निस्तारण के साथ ही दिया ये आदेश