Categories
उत्तर प्रदेश कानपुर

डाॅक्टर ने तीहरे हत्या के बाद लिखा नोट, अब लाशें नहीं गिननी, कोरोना के बाद अब OMICRON सबको मार डालेगा…

कानपुर। तिहरे हत्याकांड ने शुक्रवार को कानपुर को दहला दिया है। रामा मेडिकल कॉलेज में फोरेंसिक मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉक्टर सुशील कुमार ने कल्याणपुर क्षेत्र के डिविनिटी अपार्टमेंट स्थित फ्लैट में पत्नी व दो बच्चों की हत्या कर दिया है। हत्या के बाद डॉक्टर के कमरे से पुलिस ने कई पन्नों का सुसाइड नोट बरामद किया है। नोट के मुताबिक कोविड रिलेटेड डिप्रेशन, फोबिया। अब और कोविड नहीं। ये कोविड अब सबको मार डालेगा। अब लाशे नहीं गिननी हैं, ओमिक्रॉन। 50 वर्षीय डॉक्टर सुशील कुमार के फ्लैट से बरामद डायरी में लिखे गए कई पेज के नोट में कुछ इसी तरह की बातें लिखी हैं। पुलिस ने नोट को कब्जे में ले लिया है। सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस दावा कर रही है कि डॉ. सुशील बहुत अधिक डिप्रेशन में थे। वह कोविड बीमारी से ज्यादा तनाव थे। उनको लगता था कि अब जीवन नहीं बचेगा। उन्होंने तनाव और अवसाद में आ कर ऐसा कदम उठाया हैं नोट में जिस तरह की बातें लिखी हैं, उससे आशंका है कि वह तीनों को मारकर खुद आत्महत्या करने के प्रयास में हैं। पुलिस डॉक्टर के तलाश में लगी है। डॉक्टर सुशील ने आगे नोट में लिखा है। मैं अपने परिवार को कष्ट में नहीं छोड़ सकता। सभी को मुक्ति के मार्ग पर छोड़कर जा रहा हूं। सारे कष्ट एक ही पल में दूर कर रहा हूं। अपने पीछे किसी को कष्ट में नहीं देख सकता था। मेरी आत्मा कभी मुझे माफ नहीं करती। अलविदा…।

डिप्रेशन में है सुशील कुमार

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान यह पता चला है कि सुशील कुमार लंबे समय से अवसाद में थे। अवसाद के चलते ही उसने अपने परिवार की हत्या की है। पुलिस को मौके से एक डायरी मिली है जिसमें डॉ. सुशील ने अपने परिवार की हत्या के साथ ही अन्य बातों का भी जिक्र किया है। साथ ही उसने कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बारे में भी विस्तार से लिखा है।

तलाश कर रही पुलिस

सुशील की तलाश में पुलिस टीमें अब संभावित क्षेत्रों में दबिश दे रही हैं। हालांकि अपने भाई को मैसेज करने के बाद से ही उसने मोबाइल बंद कर दिया है जिससे उसकी लोकेशन को ट्रेस नहीं किया जा पा रहा है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

यह भी पढ़ेंः-डिप्रेशन की शिकार Jayashree ने फेसबुक पर जताई थी इच्छामृत्यु की ख्वाहिश, इस एक्टर ने बचाई थी जान