Categories
उत्तर प्रदेश कानपुर

मनीष गुप्ता हत्याकांड के सभी आरोपियों की बर्खास्तगी तय, एसपी नॉर्थ की रिपोर्ट पर एसएसपी ने की ये कार्रवाई

कानपुर /गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड में तेजी से कार्रवाई शुरू हो गयी है। दो आरोपियों को दबोच कर जेल भेज दिया गया है। चार आरोपियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह और दारोगा अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेजने के बाद सभी की बर्खास्तगी करने की तैयारी शुरू हो गई है। एसपी नॉर्थ की जांच रिपोर्ट का आधार बनाते हुए एसएसपी ने बर्खास्त करने की फाइल आगे बढ़ा दी है। एसएसपी के फाइल बढ़ाने के साथ अब सभी छह आरोपियों की बर्खास्त करने की कार्रवाई तेजी से आगे बढ़ रही है। ज्ञात हो कि मनीष गुप्ता की पत्नी की मांग पर प्रदेश सरकार ने जांच के लिए सीबीआई को संस्तुति कर दिया है। वर्तमान में कानपुर एसआईटी जांच कर रही है।

Manish Gupta Death Case

हत्या का मुकदमा दर्ज होने से पहले एसएसपी ने जांच के दौरान लापरवाही के आरोप में इंस्पेक्टर सहित छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद मनीष की पत्नी मीनाक्षी की मांग प्रशासन ने मामले की गंभीरता को समझा और जांच एसआईटी को सौंपी है। एसआईटी पिछले 10 दिनों से गोरखपुर में डेरा डाले हुए है और हर पहलू की जांच कर रही है। एसआईटी की जांच में पुलिस के खिलाफ लगातार साक्ष्य मिले हैं। कुछ वीडियो क्लिप भी मिले हैं जिसमें पुलिस वाले मनीष को घसीट कर बाहर ले जा रहे हैं। इस दौरान मनीष की हालत मरणासन्न देखी जा रही है।

Manish gupta fem

एसआईटी के डीआईजी आनंद प्रकाश तिवारी की 5 सदस्यीय टीम 2 अक्टूबर से गोरखपुर में कैंप कर रही है। टीम के सदस्य हॉस्पिटल से लेकर होटल से लेकर पुलिस थाने तक हर पहलू की जांच कर रही है। मामला सीबीआई जांच को भी सिफारिश की गई है लेकिन सीबीआई ने अभी तक केस अपने हाथ में नहीं लिया है। 2 अक्टूबर को अपर पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी की अगुवाई में एसआईटी गोरखपुर पहुंची थी। जांच में हत्या कर साक्ष्य मिटाने के प्रमाण मिलने पर आरोपितों को फरार घोषित किया गया था। होटल के कमरे का भी फोरेंसिक जांच किया गया है। साथ ही साथ उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश तेज कर दी गई है। कई जगह दबिश भी दी गई। रविवार को जेएन सिंह और अक्षय मिश्रा गिरफ्तार कर लिए गए थे, वहीं चार आरोपी अभी भी फरार है। माना जा रहा है कि फरार पुलिसकर्मियों को जल्दी पकड़ लिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः-मनीष गुप्ता हत्याकांड के फरार इनामी मुख्य आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने ऐसे भेजा जेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *