उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद की इस मामले में बढ़ सकती हैं मुश्किलें, हाईकोर्ट में 28 को सुनवाई

0
513
keshav maurya

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री को लेकर दाखिल अर्जी की सुनवाई अब 28 फरवरी को करेगी। याची अधिवक्ता के अनुरोध पर कोर्ट ने 28 फरवरी को सुनवाई का आदेश दिया है। अर्जी में एसीजेएम प्रयागराज के चार सितंबर 21 को पारित आदेश को चुनौती दी गई है। मजिस्ट्रेट ने फर्जी डिग्री की शिकायत की एफआईआर दर्ज करने के आदेश जारी करने की मांग में धारा 156(3)दंड प्रक्रिया संहिता के तहत दाखिल अर्जी खारिज कर दी थी।

दिवाकर नाथ त्रिपाठी की याचिका की सुनवाई न्यायमूर्ति राजीव गुप्ता ने की है। याची अधिवक्ता के अनुरोध पर सुनवाई की तिथि 3 फरवरी तय की गई थी। एक बार फिर से सुनवाई टालने का अनुरोध किया गया। याची का कहना है कि सूचना अधिकार कानून के तहत मांगी गई जानकारी में सचिव माध्यमिक शिक्षा बोर्ड प्रयागराज ने श्री भूषण पांडेय को बताया कि हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयागराज की प्रथमा, मध्यमा, विशारद डिग्री हाई स्कूल के समकक्ष मान्य नहीं है।

उत्तर प्रदेश की उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने इसी डिग्री के आधार पर आगे की शिक्षा ग्रहण की है जो गैर कानूनी है और अपराध की श्रेणी में आती है। याची ने कैंट थाना प्रभारी को शिकायत की थी। सुनवाई न होने पर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया है। कार्रवाई नहीं हुई तो मजिस्ट्रेट की अदालत में अर्जी दाखिल की। याची ने मजिस्ट्रेट को यह भी अर्जी दी कि विपक्षी एमएलसी है। इसलिए अर्जी एमपी-एमएलए की विशेष अदालत में भेजा जाये जिससे सुनवाई हो सके। प्रकरण सत्र न्यायाधीश को भेजा गया है। किंतु मजिस्ट्रेट ने थानाध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी और रिपोर्ट पर एकतरफा विचार कर अर्जी खारिज कर दी। माना जा रहा है कि इस मामले में उप मुख्यमंत्री की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

ये भी पढ़ेंः-नेहा सिंह राठौर के यूपी में का बा पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा यूपी में