sima yadav

कानपुर/ लखनऊ। अपराध की दुनिया में कभी-कभी ऐसे सच आते हैं जिससे सुन कर हैरानी होती है। कानपुर में सुपारी लेकर महिला की हत्या कराने वाली दस्यु सुंदरी सीमा यादव ने पूछताछ हुई तो उसने अजीबोगरीब बयान दिया है। सीमा यादव ने कहा कि सामाजिक कार्यों के लिए उसको पैसों की जरूरत थी। इसलिए उसने सुपारी ली थी। उसने बताया कि सामाजिक कार्यों के लिए वह अपराध की दुनिया में आयी। पुलिस ने सोमवार को सीमा यादव समेत सभी छह आरोपियों को जेल भेज दिया है। बिठूर के मकसूदाबाद में शशि गौतम की शुक्रवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या के बाद कानपुर में सनसनी फैल गयी।

रविवार को पुलिस ने सीमा यादव से पूछताछ के बाद खुलासा किया है। दस्यु सुंदरी सीमा यादव ने गांव के ही शिक्षक महेश शर्मा व उसके बेटे अमित से 50 हजार रुपये में महिला की हत्या की सुपारी ली थी। तीन शूटरों ने वारदात को अंजाम दिया था। तीन शूटरों ने हत्या कर दी।

सीमा ने बताया कि पैसों की तंगी थी इसलिए उसने गैंग बनाया। उसने पूछताछ में बताया कि अपराध की दुनिया में वह आर्थिक तंगी के कारण आयी और सुपारी ली। धीरे-धीरे अपराध की दुनिया में वारदात को अंजाम देती रही। उसने यह भी कहा कि सामाजिक कार्यों के लिए भी पैसों की जरूरत होती है। खेती है लेकिन उससे कोई कमाई नहीं होती है।

यह भी पढ़ेंः-हिरासत में हिस्ट्रीशीटर पर एटीएस ने ऐसे कसा शिकंजा, आतंकियों ने कानपुर से खरीदी थी पिस्टल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here