मंदिर निर्माण के लिए दिल खोलकर दान कर रहे राम भक्त, अब तक इतना पैसा ट्रस्ट में हुआ जमा

204

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनने की खुशी के चलते देश-विदेशों से भक्त दिल खोलकर दान कर रहे हैं। हाल ही में प्रभु श्री राम मंदिर निर्माण की नींव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पांच अगस्त को रखी गई थी। इस दौरान पूरी अयोध्या नगरी को दुल्हन की तरह सजाया गया था। ‘आओ अवध में राम पधारे हैं’ के भक्ति गीत में पूरा अयोध्या सराबोर दिखा था। हर किसी के जुबान पर राम के जयकारे थे। वहीं अब जब राम मंदिर के निर्माण की शुभ घड़ी आ गई है, तो भक्त भी श्री राम की नगरी अयोध्या में दिल खोलकर दान कर रहे हैं, कोई सोना-चांदी भेंट कर रहा है तो कोई पैसे दान कर खुद को सौभाग्यशाली समझ रहा है। इस बीच अमेरिका से भी डॉलर में पैसा राम मंदिर ट्रस्ट को भेजा गया है। अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के निवासी राम पी तिवारी ने राम मंदिर ट्रस्ट में 1500 डॉलर दान किए हैं, यह भारतीय मुद्रा में लगभग एक लाख 11 हजार के बराबर राशि है। तिवारी ने यह पैसे श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कैंप कार्यालय चेक के माध्यम से भेजे हैं। तिवारी के साथ-साथ कई राम भक्त विदेशों से मंदिर ट्रस्ट में पैसा भेज रहे हैं।

ये भी पढ़ें:-अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान में आया एक क्विंटल सोना-चांदी, जानें किसने दिया

सूत्रों  के अनुसार भव्य मंदिर निर्माण के लिए अब तक 75 करोड़ से अधिक की धनराशि दान के रूप में ट्रस्ट को मिल चुकी है। श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कैंप कार्यालय के प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि विदेशों में बैठे रामभक्त दान के लिए ट्रस्ट से संपर्क कर रहे हैं, लेकिन अभी विदेशों से दान लेने के लिए अधिकृत ट्रस्ट तैयार नहीं किया गया है, हालांकि भारत सरकार से अनुमति मिलने के साथ ही ट्रस्ट पंजाब नेशनल बैंक में NRI खाता खोलेगा, जिसमें विदेशों से भी रामभक्त आसानी से पैसा भेज सकेंगे।

रामलला के लिए राम भक्त दिल खोलकर दान कर रहें हैं, वह चाहते हैं कि मंदिर निर्माण में कुछ पुन्य का काम वे भी कर सकें। इसके लिए राम भक्त लिफाफा भर-भर के डॉलर की शक्ल में पैसा भेज रहे हैं। इन पैसों को मंदिर निर्माण के इस्तेमाल में लाया जाएगा। गुप्ता का कहना है कि रामभक्त ट्रस्ट में चैक, कैश जैसी उनकी इच्छा हो वह दान कर सकते हैं। इसके लिए अलग से कमिटी बनाई गई है, जो पूरे ट्रस्ट को संभालती है।

ये भी पढ़ें:-राम मंदिर ट्रस्ट का ऐसा होता है गठन, प्रमुख पद के लिए इस शख्स का नाम सबसे आगे