Friday, December 3, 2021

सीएम योगी ने भगवान राम का किया राजतिलक, कहा- अगली कारसेवा हुई तो गोली नहीं पुष्प वर्षा होगी

Must read

- Advertisement -

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath Speech on Diwali 2021 at Ayodhya) ने अयोध्या में कहा कि 1990 में जय श्रीराम बोलना अपराध होता था। उस दौरान रामभक्तों पर गोलियां चलाई गई थीं मगर आज गोलीबारी का आदेश देने वाले वे लोग झुक चुके हैं। यदि ऐसा ही चलता रहा तो अगली कार सेवा में गोली नहीं चलेगी बल्कि वे लोग भी राम भक्त की लाइन में लगे नजर आएंगे।

‘अगली कारसेवा में पुष्पों की वर्षा होगी’

- Advertisement -

मुख्यमंत्री योगी (Yogi Adityanath) बुधवार को अयोध्या में दीपोत्सव 2021 (Deepotsav 2021) में शामिल हैं। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा, ‘1990 में अयोध्या में कार सेवकों पर गोली चलाई गई थी। उस वक्त राम बोलना अपराध माना जाता था। जो कल तक राम भक्तों पर गोली चला रहे थे, आज वे झुक चुके हैं। ऐसा ही चलता रहा तो अगली कार सेवा में गोली नहीं चलेगी। बजाय वे लोग भी राम भक्त की लाइन में लगे नजर आएंगे। अगली कारसेवा में राम भक्तों और कृष्ण भक्तों पर फूलों की बारिश होगी।’

रामकथा पार्क में भगवान राम का हुआ राज्याभिषेक। CM योगी ने आरती उतारी और राजतिलक किया।मुख्यमंत्री योगी (Yogi Adityanath) ने आगे कहा, ‘मैं 2017 में अयोध्या के पहले दीपोत्सव में आया था। उस वक्त एक ही नारा गूंज रहा था। योगी जी एक काम करो, मंदिर का नाम करो। मैं तब भी कहता था कि मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी जा रही है, मंदिर का निर्माण हो रहा है। अब सभी लोग इस बात से खुश हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है।’

‘बना सबसे बड़ा सांस्कृति कार्यक्रम’

सीएम योगी ने भगवान राम का फूल-मालाओं से स्वागत किया।सीएम योगी ने कहा, ‘5 साल पहले जब दीपोत्सव की चर्चा आई थी तो उस समय अयोध्या में दिवाली पर कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं होता था। आज यहां केंद्रीय मंत्रियों से लेकर तीन देशों के उच्चायुक्त और सैकड़ों लोग अपनी प्यारी अयोध्या नगरी को देखने आए हैं। यह अपने आप में बड़ा उत्सव है। लखनऊ, आगरा, काशी, प्रयाग में भी, हर एक स्थान भव्यता से इस कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है।’

‘कब्रिस्तान पर होने वाला खर्च अब मंदिर पर होता है’

रथ पर सवार होकर रामकथा पार्क पहुंचे भगवान राम।मुख्यमंत्री योगी (Yogi Adityanath Speech on Diwali 2021 at Ayodhya) ने कहा, ‘अयोध्या एक नई सांस्कृतिक नगरी बननी चाहिए। वर्ष 2023 तक कोई ताकत मंदिर के निर्माण को नहीं रोक सकती क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है। अयोध्या में राम मंदिर का काम चल रहा है, वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का काम चल रहा है। देश का पैसा पहले कब्रिस्तान पर खर्च होता है, आज मंदिर पर खर्च हो रहा है। सबसे बड़ा अंतर यही है।’

इसे भी पढ़ें:- Edible Oil Price: सरसों तेल समेत सभी खाने के तेल की कीमत में आई गिरावट, जानें नए दाम

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article