Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

CM योगी ने 325 से अधिक सीटों का किया दावा, अखिलेश के फोन टैपिंग पर कही ये बात

लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने फोन टैपिंग का आरोप लगाया था। अब सीएम योगी ने फोन टैपिंग पर जवाब दिया है। सीएम योगी ने चुटकी लेते हुए कहा है कि उनके पास इतनी फुर्सत ही नहीं है कि वे ऐसा कोई काम कर सकें। जब से वे देश के सबसे बड़े राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं, उनका सारा ध्यान सिर्फ प्रदेश के विकास पर रहा है। सीएम योगी ने कहा कि उनकों ये सब करने की कोई जरूरत नहीं है। सीएम योगी ने कहा कि अखिलेश यादव कितने भी गठबंधन कर लें, वे कितनी भी पार्टियों के साथ हाथ मिला लें लेकिन उनका हारना तय है। 2017 के चुनाव का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा कि तब भी दो लड़के आए थे, तब भी कई दलों ने हाथ मिलाया था लेकिन जनता ने अपना जनादेश स्पष्ट रखा। दो लड़के का मतलब कांग्रेस और सपा से था।

अखिलेश के अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी आरोप लगाया कि उनके बच्चों के सोशल मीडिया अकाउंट हैक किए जा रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि मेरी सरकार के दौरान हर जनपद में अब साइबर सेल है। अगर प्रियंका जी को सही में लगता है कि उनके बच्चों के अकाउंट हैंक हो रहे हैं, उन्हें शिकायत करनी चाहिए। जांच में सामने आ जाएगा कि उनके बच्चों को अकांउट कौन हैक कर रहा है।

सीएम योगी ने बीजेपी की जीत पर भी विश्वास भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि फिर बीजेपी की सरकार बनने जा रही है। वे इतिहास रचने जा रहे हैं और 325 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज होगी। उन्हांेने कहा कि इस बार कोई 49 या 51 प्रतिशत वोट नहीं, बीजेपी को पूरे 100 फीसदी वोट मिलने वाले हैं। सीएम योगी ने कहा कि मैं इसलिए यूपी का सीएम बना हूं कि प्रदेश में फिर से भाजपा की फिर से सरकार बने। हम इतिहास बदलने आए हैं।

अखिलेश पर साधा निशाना

सीएम योगी ने अखिलेश यादव पर फिर सियासी निशाना साधा। सीएम ने कहा कि अखिलेश यादव जब तक 12 बजे सो कर उठते हैं, तब तक मैं कई दौरे, अधिकारियों के साथ मीटिंग करके अगले कार्यक्रमों की तैयारियों में जुटा रहता हूं। जब मैं ब्रह्म मुहूर्त में पूजा पाठ करता हूं, तब अखिलेश सो रहे होते हैं। उन्हें पूजा-पाठ से क्या मतलब है। अखिलेश जी के पास पर्याप्त समय है. वे बड़े बाप के पुत्र हैं. उनका यही बड़ा काम है।

इनकम टैक्स छापेमारी पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इनकम टैक्स विभाग स्टेट की एजेंसी नहीं है। वो स्वतंत्र एजेंसी है। समाजवादी पार्टी के नेताओं की आय से अधिक संपत्ति का मामला भाजपा की सरकार का नहीं, बल्कि कांग्रेस सरकार का है।

चौथे नंबर पर न आ जाए सपा

सीएम योगी ने कहा कि 2017 में दो लड़कों की जोड़ी बनी थी। उसे जनता ने ठुकरा दिया था। उत्तर प्रदेश में बुआ और बबुआ की जोड़ी बनी थी। यह जोड़ी भी फेल हो गयी। जिस यूपी में 2019 में भाजपा के लिए यूपी मुश्किल बताया जा रहा था, उसमें भाजपा ने 64 सीटें जीतीं। बसपा ने सिर्फ 10 सीटें जीतीं। सपा 2019 में तीसरे नंबर पर थी, मुझे डर है कि कहीं उनका बोल चाल, उनके कार्य करने का तरीका चौथे स्थान पर न पहुंचा दे।

यह भी पढ़ेंः-सीएम योगी का विपक्ष पर हमला, दुर्दांत माफिया की सरपरस्त है समाजवादी पार्टी