Wednesday, December 8, 2021

BJP के खिलाफ एकजूट होने में छोटे दलों को सता रहा CBI, ED का डर, राजभर ने गठबंधन पर कही ये बात

Must read

- Advertisement -

कुशीनगर। विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक समीकरण बदलने लगे हैं। दलबदल के साथ सियासी दल अपने को मजबूत करने में लगे हैं। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर, समाजवादी पार्टी से गठबंधन के बाद अब बदले रंग में नजर आ रहे हैं। अब उन्होंने छोटी पार्टियों के नेताओं पर बीजेपी से डरने का आरोप लगाया है। छोटे दलों के अध्यक्षों पर व्यंग्य कसते हुए ओपी राजभर ने कहा कि बीजेपी सबकी नस पकड़े हुए है। कोई सीबीआई से डर रहा है तो किसी को ईडी का डर सता रहा है। ओमप्रकाश राजभर ने कहा की बंद कमरे में बीजेपी को हराने के लिए एक होने की बात होती है लेकिन कमरे से बाहर निकलते ही लोग बदल जाते हैं। ओपी राजभर ने कहा की जो पार्टियां बीजेपी को सत्ता से बेदखल करना चाहती हैं, वे संयुक्त मोर्चा के साथ आएं और जो बीजेपी को ताकत देना चाहते हैं वे अकेले लड़ें।

- Advertisement -

समाजवादी पार्टी से गठबंधन होने के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के हौसले बुलंद हैं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर पूर्वांचल के कई जिलों का दौरा करके समाजवादी पार्टी और सुभासपा की संयुक्त रैली कर रहे हैं। कुशीनगर में भी सपा और सुभासपा आगामी 17 नवंबर को संयुक्त रैली करने की तैयारी है। रैली स्थल का चयन करने के लिए सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कुशीनगर का दौरा किया। ओमप्रकाश राजभर ने खड्डा विधानसभा के धरनी पट्टी में संभावित रैली स्थल का जायजा लिया।

इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की और आगे की रणनीति बनायी। सपा और सुभासपा के कार्यकताओं को संबोधित करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने 2022 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए संकल्प लिया। उन्होंने कार्यकर्ताआंे से कहा कि सपा से पहले हमने कोई गठबंधन नहीं किया था। बीजेपी लोगों को हिंदू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान और मंदिर-मस्जिद ही पढ़ाती है। आज हिंदू खतरे में नहीं है, बीजेपी की कुर्सी खतरे में है।

यह भी पढ़ेंः-बंगाल में ‘खेला होबे‘ हुआ था तो UP में ‘खदेड़ा होबे‘…अखिलेश के साथ राजभर ने मंच से कही ये बात

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article