Categories
उत्तर प्रदेश

रिश्तेदार की पिटाई कर दरिंदों ने पार की हैवानियत की हद, जंगल में गैंगरेप

सोनभद्र। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में एक महिला के साथ दरिंदों ने हैवानियत की हदें पार कर दी हैं। विवाहित महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। गैंगरेप का मामला आने के बाद हड़कम्प मच गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन में से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। गैंगरेप की जानकारी मिलते ही डीआईजी, एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह और अन्य अफसर थाने पहुंचे और पीड़िता से पूछताछ की। पीड़िता से बात की और आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने का आश्वासन दिया।
बताया जा रहा है कि महिला अपने रिश्तेदार के साथ घर वापस आ रही थी। सोनभद्र के घोरावल कोतवाली क्षेत्र के मुक्खा फॉल के जंगल में तीन युवकों ने गैंगरेप किया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि युवकों ने उसके रिश्तेदार के साथ पहले मारपीट की और उसके हाथ-पैर बांध दिये। तीनों दरिंदों ने गैंगरेप किया। गैंगरेप का मामला के संज्ञान में आते ही पुलिस तुरंत ही हरकत में आ गयी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। तीसरे की तलाश की जगह-जगह पर दबिश दी जा रही है।

रिश्तेदार के हाथ-पैर बांधे, फिर किया गैंगरेप

गैंगरेप के मामले में एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि घोरावल कोतवाली क्षेत्र में मुक्खा फॉल के जंगल के रास्ते एक विवाहिता अपने रिश्तेदार के साथ मोटरसाइकिल से घर जा रही थी। घर लौटते समय ही सुनसान जगह देखकर तीन लोगों ने उन्हें रोक लिया। तीनों ने जब महिला से जबरदस्ती करने की कोशिश की तो रिश्तेदार ने इसका विरोध किया। तीनों दरिंदों ने मिल कर रिश्तेदार की पिटाई की और उसके हाथ-पैर बांध दिए। विवाहिता को जंगल में ले जाकर गैंगरेप किया।

पुलिस ने तीन में से दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

घर लौटने पर विवाहिता और उसके रिश्तेदार ने घटना के बारे में परिजनों को बताया। तुरंत ही दोनों ने कोतवाली जाकर पूरी घटना पुलिस को बताईं। मामला दर्ज करते हुए तीन में से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस तीसरे आरोपी को भी पकड़ने के लिए दबिश दे रही है। बताया जा रहा है कि एक आरोपी मुक्खा फॉल के पास के ही एक गांव का रहने वाला है। कुछ समय पहले ही पॉक्सो एक्ट के एक मामले में जमानत पर जेल से छूटकर बाहर आया है।

यह भी पढ़ेंः-इंस्टाग्राम पर दोस्ती-आगरा में गैंगरेप, दरिंदों ने चलती कार में की हैवानियत हदें पार