सुदीक्षा की मौत पर बुलदंशहर के DM का चौंकाने वाला बयान, छेड़खानी पर कही ये बड़ी बात

376
bulandshahr sudiksha news

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक होनहार छात्रा की मौत ने सनसनी मचा दी। यहां पर मनचलों की वजह से सुदीक्षा भाटी की मौत हो गई। सुदीक्षा अमेरिका के बॉबसन कॉलेज में पढ़ाई करती थी लेकिन वह इन दिनों अपने परिवार से मिलने अपने देश आई हुई थी लेकिन सोमवार रात की एक घटना ने सुदीक्षा की जिंदगी को ही खत्म कर दिया। वहीं, अब इस पूरे हादसे पर बुलंदशहर के जिलाधाकारी रविंद्र कुमार का बयान सामने आया है। जो काफी चौंकाने वाला है। रविंद्र कुमार ने अपने बयान में कहा है कि सुदीक्षा भाटी की मौत के संबंध में कई तरह की अफवाह फैलाई जा रही है लेकिन उनकी मौत छेड़खानी से नहीं है क्योंकि वह चाचा के साथ बाइक पर नही थी।

डीएम रविंद्र कुमार ने कहा कि जांच में पता चला है कि ट्रैफिक के पास इनकी बाइक सामने से आ रही बाइक से टकरा गई थी। जिस वजह से सुदीक्षा बाइक से नीचे गिर गई थी। इस दौरान उन्हें काफी चोट भी आई थी। जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई। पुलिस ने घायलों को सीएचसी औरंगाबाद अस्पताल में भर्ती करवाया था। यहां पर दो लोगों की मौत हो गई थी। सुदीक्षा जब अपने ननिहाल जा रही थी तो इस दौरान वह अपने छोटे भाई के साथ बाइक पर बैठी हुई थी। इस दौरान नाबालिग भाई ने हेलमेट भी नहीं पहना हुआ था। इसलिए जो दावे किए जा रहे है कि बाइक चाचा चला रहे थे वो गलत है। इस घटना में जिला प्रशासन ने परिवार की हर संभव मदद की।

वहीं, इस घटना पर पुलिस का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली थी कि एक रोड एक्सीडेंट हुआ था। जिसके बाद पुलिस की एक टीम तुरंत ही घटनास्थल पर पहुंची। वहां जाकर पता चला कि सुदीक्षा नाम की एक लड़की अपने भाई के साथ बाइक पर मामा के घर जा रही थी। वहीं, पुलिस को स्थानिय लोगों से पूछताछ में पता चला कि बाइक के सामने से एक मोटरसाइकिल गुजर रही थी। जिसे देखकर ही अचानक ब्रेक मारा गया। इसी दौरान बाइक जाकर सीधा बुलेट से टकरा गई। जिस वजह से ही सुदीक्षा जमीन पर गिर गई। इस दौरान सुदीक्षा की मौके पर ही मौत हो गई थी। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, पूछताछ में मृतक के भाई या फिर किसी भी स्थानिय व्यक्ति ने छेड़छाड़ की बात नहीं कही थी।

बता दें कि सुदीक्षा बेहद ही सामान्य परिवार से ताल्लुक रखती है। उनके पिता चाय की दुकान लगाते है लेकिन वह बचपन से ही पढ़ाई में बहुत ही ज्यादा होशियार है। सुदीक्षा ने अपनी मेहनत और लगन से 4 करोड़ की स्कॉलरशिप हासिल की थी। जिसके बाद उसे अमेरिका के बॉबसन कॉलेज में पढ़ने का मौका भी मिला।

ये भी पढ़ें:-UP: चाय बेचने वाले की बेटी को अमेरिका से मिली थी 4 करोड़ की स्कॉलरशिप, अब मनचलों ने ले ली जान