UP में माफिया के घर पर चला बुल्डोजर, एक दिन पहले ही बन गया था प्लान

1473

लखनऊ विकास प्राधिकरण ने माफिया मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। प्राधिकरण ने माफिया मुख्तार की दो इमारतों को धराशायी कर दिया है। बताया जा रहा है कि यह इमारत शत्रु संपत्ति पर बनी थी, जो बाद में मुख्तार ने अवैध तरीके से अपनी मां के नाम करा ली थी। इसके बाद उसने अपने दो बेटों अब्बास अंसारी व उमर अंसारी के नाम इस इमारत को करा दिया था। प्राधिकरण के मुताबिक इस बिल्डिंग को इसलिए ढहाया गया, क्योंकि इसे अवैध तरीके से बनाया गया था। इन दोनों ही इमारतों को गिराने के लिए गत 11 अगस्त को ही प्राधिकरण ने आदेश दे दिया था, लेकिन किसी कारणवश 11 अगस्त को बिल्डिंग नहीं गिराई गई है, मगर गुरुवार को आदेश का अनुपालन करते हुए सुबह 6 बजे प्रशासन व पुलिस बल के साथ एलडीए के अधिकारी 20 से ज्यादा बुल्डोजर लेकर सुबह लगभग छह बजे ही मौके पर पहुंच गए। याद दिला दें कि इस इमारत में एक परिवार रह रहा था, जिसे तत्काल वहां से खाली कराने का आदेश दे दिया गया। यह आदेश देते ही एलडीए ने फौरन उनके सामान को बाहर निकाला। इसके बाद बिल्डिंग को ढहाने की कवायद शुरू की गई। ये भी पढ़े :महाराष्ट्र: 5 मंजिला इमारत ढहने से मचा हड़कंप, 200 लोगों का रहता था परिवार, NDRF तैनात

विरोध भी हुआ 

हालांकि बिल्डिंग ढहाने की कार्रवाई को मद्देनजर रखते हुए कुछ लोगों ने विरोध करना भी शुरू किया, लेकिन प्राधिकरण ने इन सबको अनदेखा करते हुए इमारतों को ढहाने की कवायद जारी रखी। इसके बाद प्राधिकरण अपनी कार्रवाई को संपन्न करने के बाद वहां से रवाना हो गए। वहीं सुरक्षा के मद्देनजर वहां पर पुलिस बलों को भी तैनात किया गया। बता दें कि इस बिल्डिंग को गुपचुप गिराने का प्लान बुधवार को ही बन गया था, ताकि किसी को भनक न लगने पाए। प्राधिकरण को इस बात पर शक था कि अगर इस कार्रवाई की भनक किसी को लगती है तो व्यापक स्तर पर विरोध प्रदर्शन हो सकता है, इसलिए इस पूरी कार्रवाई को गुपचुप तरीके से ही बनाने का प्लान बनाया गया था। ये भी पढ़े :दुनिया की सबसे ऊंची इमारत पर इन फिल्मी सितारों का है कब्जा, करोड़ों रुपये देकर खरीदा है घर