Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

BSP ने की हरिशंकर तिवारी के कुनबे पर कार्रवाई, विधायक विनय को किया ऐसे निष्कासित

गोरखपुर। विधानसभा चुनाव से पहले सियासी दलों में उठापटक तेज हो गयी है। राजनीतिक समीकरण साधने में सभी दल और नेता लगे हैं। इस बीच बसपा ने पूर्वांचल के कद्दावर ब्राह्मण नेता हरिशंकर तिवारी कुनबे पर बड़ी कार्यवाई की है। समाजवादी पार्टी में शामिल होने की अटकलों के बीच बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। उनके बड़े भाई एवं संतकबीर नगर से पूर्व सांसद कुशल तिवारी और पूर्व विधान परिषद अध्यक्ष गणेश शंकर पांडेय भी बहुजन समाज पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। बसपा ने बाकायदा प्रेस नोट जारी करते हुए कार्रवाई की पुष्टि की है। सपा में जाने की अटकलों के बीच बसपा ने अनुशासनहीनता के आरोप में हरिशंकर तिवारी के दोनों बेटों भीष्म शंकर और विनय तिवारी और उनके रिश्ते में भांजे गणेश शंकर पाण्डेय को पार्टी से निष्कासित किया है। गोरखपुर मंडल के बसपा के मुख्य सेक्टर प्रभारी सुधीर कुमार भारती ने प्रेस नोट जारी किया है। उन्होंने कहा है कि तिवारी बंधुओं और गणेश शंकर पाण्डेय को अनुशासनहीनता और पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ ठीक व्यवहार नहीं करने पर पार्टी से निष्कासित किया गया है।

Vinay shanker tiwari

जल्द सपा में शामिल हो सकता है तिवारी परिवार

ज्ञात हो कि पिछले शनिवार को विनय शंकर तिवारी ने लखनऊ के जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात भी की थी। इस मुलाकात के बाद ही सियासी रंग देखने को मिले हैं। माना जा रहा था कि हरिशंकर तिवारी का कुनबा अब साइकिल पर सवार होने जा रहा है। बताया जा रहा है कि जल्द ही हरिशंकर तिवारी का परिवार समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर सकता है।

कुशल तिवारी बसपा से रह चुके हैं सांसद

ज्ञात हो कि जिले के टाड़ा गांव निवासी पूर्व मंत्री पंडित हरिशंकर तिवारी के बेटे भीष्म शंकर उर्फ कुशल तिवारी ने बसपा के टिकट पर साल 2007 के उपचुनाव में संतकबीरनगर लोकसभा सीट से जीत दर्ज की थी। 2009 के आम चुनाव में भी उनको बसपा के टिकट पर यहां से जीत मिली थी। 2014 के चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले बसपा ने उन्हें लोकसभा क्षेत्र का प्रभारी बनाया था। विनय शंकर तिवारी मौजूदा समय में चिल्लूपार सीट से विधायक हैं।

यह भी पढ़ेंः-हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय ने BSP से किया किनारा, अब बदलने वाला है सियासी सफर