Akhilesh yadav

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक पार्टियों ने एक दूसरे के दलों में तोड़-फोड़ शुरू कर दी है। मंगलवावार को गोरखपुर से भाजपा राज्यसभा सांसद के छोटे भाई जितेंद्र निषाद, गोरखपुर बार एसोसिएशन के पूर्व संयुक्त मंत्री अधिवक्ता सुशील चंद्र साहनी, महाराजगंज जिला की फरेंदा विधानसभा से पूर्व बसपा प्रत्याशी बेचन निषाद समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा जाने वाली है इसलिए मुख्यमंत्री की भाषा बदल गई है। भारतीय जनता पार्टी को अब अपना हाल पता हो गया है। उन्होंने कहा कि आज किसान, नौजवान,युवा परेशान है। वह अब सरकार बदलना चाहता है। उन्होंने कहा कि अब तो सरकार विदेशों के फोटो लगाकर झूठ फैला रही है।

सपा की सरकार बनने पर सभी वर्गों को मिलेगा सम्मान

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने महाराजगंज जिले में खेती किसानी कुटीर उद्योग बचाओ रोजगार दो किसान नौजवान पटेल यात्रा के तहत जगह-जगह भ्रमण कर लोगों को सपा की खूबियां बताईं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार बनी तो सभी वर्गों को पूरा सम्मान दिया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जनता ने पूरी तरह से मन बना लिया है कि आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में सत्ता का कमान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाथों में देना है। उन्होंने सपा की पूर्व उपलब्धियों से भी अवगत कराया। इसी विश्वास के साथ कार्यकर्ताओं को जनता के बीच में बने रहना है। उन्होंने कहा कि जनता महंगाई, भ्रष्टाचार से आजिज आ चुकी है। वादे के अनुसार सरकार ने आय तो दोगुनी नहीं हुई लेकिन डीजल, खाद, बीज, कीटनाशक के दाम जरूर आसमान पर पहुंचा दिए। महंगाई से लोग परेशान हैं।

वादों की लगाई झड़ी, दिखाए सपने

सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर बिजली के महंगी बिल के समस्या से जूझ रही जनता को राहत दिलाई जाएगी। समाजवादी पेंशन, लैपटॉप वितरण, कन्या विद्या धन योजना, किसान दुर्घटना बीमा, पुरानी पेंशन बहाली, दवा, पढ़ाई मुफ्त की जाएगी। समाजवादी सरकार जनता के लिए काम करेगी। सपा प्रमुख अखिलेश यादव की सरकार बनने पर कैबिनेट की पहली बैठक में ही दस लाख सरकारी नौकरी की भर्ती खोल दी जाएगी। शिक्षामित्रों को फिर से समायोजित किया जाएगा।

यह भी पढ़ेंःजब किन्नर सोनम ने अखिलेश यादव को कहा, दगाबाज तोरी बतिया न मानू रे