कांग्रेस के घोषणापत्र भर्ती विधान में युवाओं और महिलाओं के लिए बड़े वादे, प्रियंका ने कही ये बात

0
116
Congress bharti vidhan
  • 20 लाख सरकारी नौकरियों का वादा
  • भरे जायेंगे शिक्षकों के खाली पद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का युवा घोषणा-पत्र जारी हो गया जिसमें युवाओं के लिए कई वादे किये गये हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का युवा घोषणा पत्र जारी किया। ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ और टिकट बंटवारे में महिलाओं को 40 फीसदी आरक्षण का पहले से वादा था। कांग्रेस ने सरकारी नौकरियों से लेकर शिक्षकों की भर्तियों में भी बड़ा वादा किया है।

घोषणा पत्र जारी करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि देश और यूपी की समस्या हिंदुस्तान के हर युवा को मालूम है। राहुल गांधी ने कहा कि हम खोखले वादे नहीं करते हैं। यूपी के युवाओं से बात करके उनके विचार इस घोषणा पत्र में रखा गया है। प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के हर जिले के युवाओं से बात की है। भर्ती विधान घोषणा पत्र इसलिए बनाया गया है कि युवा के पास रोजगार की समस्या है। कांग्रेस पार्टी ने घोषणापत्र में बताया है कि हम 20 लाख रोजगार दिलाएंगे। नौजवानों का जो भरोसा टूट गया रोजगार को लेकर, उसे हम कैसे निभायें।

प्रियंका गांधी के भाषण के प्रमुख अंश

उत्तर प्रदेश में 7 करोड़ युवाओं की आकांक्षा का घोषणा पत्र है। इस घोषणा पत्र को लागू करने के साथ ही 20 लाख सरकारी नौकरी हम देंगे। 40 प्रतिशत महिलाओं को नौकरी दिया जाएगा। परीक्षाओं में घोटालों को दूर करने की भी बात की गई है। सरकार से जो भरोसा जो टूटा है, उसे बहाल किया जाएगा। 20 लाख सरकारी नौकरियो में डेढ़ लाख प्राथमिक विद्यालय में पद खाली है। माध्यमिक में 38 हजार, उच्च में 8 हजार पद खाली हैं। डॉक्टरों के 6 हजार, पुलिस के 1 लाख का पद खाली हैं। 20 हजार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी सहायिका के 27 हजार पद खाली हैं। संस्कृत विद्यालय में 2 हजार पद खाली है। प्रियंका गांधी ने कहा कि एक जॉब कैलेंडर बनाया जाएगा, जिसमें परीक्षा की तारीख, रिजल्ट की तारीख और नियुक्ति की तारीख होगी। जाॅब कैलेंडर का उल्लंघन होने पर कार्रवाई होगी।

यूपी में युवाओं में नशीले पदार्थों का इस्तेमाल बढ़ा है। लखनऊ में हम एक सेंटर बनाएंगे जो युवाओं की काउंसलिंग करेंगे जिसके 4 हब होंगे। स्टार्टअप के लिए 5,000 करोड़ रुपए का ‘सीड स्टार्ट उप फंड’ रहेगा, जिसमें 30 साल से कम उम्र के उद्यमियों को प्राथमिकता दी जाएगी। बेसिक शिक्षा क्षेत्र में 1 लाख प्रधानअध्यापक की कमी को पूरा किया जाएगा। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के खाली 19300 पद और आंगनबाड़ी सहायिकाओं के लिए रिक्त 27100 पदों को भरा जाएगा। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के शुल्क माफ होंगे। परीक्षा देने के लिए बस और रेल यात्रा अभ्यर्थियों को मुफ्त होगी।

ये भी पढ़ेंःउन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां को टिकट दिये जाने पर भड़की सेंगर की बेटी, प्रियंका को कही ये बात