Categories
उत्तर प्रदेश लखनऊ

ओमिक्रॉन वेरिएंट की आहट से पूर्व योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइन, UP आने वालों की होगी थर्मल स्कैनिंग

लखनऊ। ओमिक्रॉन वेरिएंट ने भारत में भी दस्तक देने के साथ ही हड़कम्प की स्थिति पैदा हो गयी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस नये वेरिएंट का लेकर सख्त कदम उठाया है। कर्नाटक में दो लोग ओमिक्राॅन वेरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं। ऐसे में सभी राज्य सरकारें अब काफी ज्यादा सख्ती करती दिख रही हैं। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी नई गाइडलाइन जारी कर दी है। उत्तर प्रदेश में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी।

ओमिक्रॉन पर UP सरकार की गाइडलाइन

अगर कोई भी व्यक्ति कोविड पॉजिटिव निकलता है तो उसे तुरंत क्वारंटीन कर दिया जाएगा। राज्य के हर रेलवे और बस स्टेशन पर भी कोविड टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इन जगहों के लिए एक अलग मेडिकल टीम बनाने का फैसला भी लिया गया है। नई गाइडलाइन में हर क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारी और कलेक्टर को भी बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। उन सभी अधिकारियों को अपने स्तर पर हर एयरपोर्ट का दौरा करना होगा और ये सुनिश्चित करना होगा कि यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग होती रहे। जांच से कोरोना संक्रमितों का पता लगेगा। संक्रमित व्यक्ति को तुरन्त क्वारंटीन किया जाएगा।

पड़ोसी राज्यों ने भी दिखाई सख्ती

थर्मल स्कैनिंग के अलावा कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग पर भी पूरा जोर दिया जा रहा हैं। जो भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जा रहा है, उसको समय रहते आइसोलेट करना और फिर कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग में जुट जाना जरूरी बताया गया है। यूपी के अलावा कई दूसरे राज्यों ने भी सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र में तो एट रिस्क देश से आने वाले यात्रियों के लिए सात दिन का क्वारंटीन कर दिया गया है। वहीं उत्तराखंड में रैंडम टेस्टिंग का नियम बना दिया गया है। कोशिश की है कि कोई संक्रमित आता है तो उसे जांच के बाद ही क्वारंटीन कर दिया जाएगा।
ज्ञात हो कि कर्नाटक में दो लोग ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें एक शख्स ने तो साउथ अफ्रीका का दौरा किया था, वहीं दूसरा एक स्वास्थ्यकर्मी है जिसकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। अभी के लिए दोनों को सिर्फ बुखार की शिकायत है और वे पूरी तरह ठीक हैं।

यह भी पढ़ेंः-योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि पर नहीं होगी मांस की बिक्री