Categories
उत्तर प्रदेश कानपुर राजनीति

दस्यू सुन्दरी सीमा यादव लड़ेगी चुनाव, इन दलों ने किया है सम्पर्क

लखनऊ/ कानपुर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर उम्मीदवारों की सूची तेजी से जारी होने लगी है। उम्मीदवार भी अपने विधानसभा क्षेत्र में तेजी से सम्पर्क बना रहे हैं। भले ही अभी चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है लेकिन किस्मत आजमाने वालों की नाम तेजी से आने लगे हैं। कानपुर जेल में बंद दस्यु सुंदरी सीमा यादव ने विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर सियासी हलचल पैदा कर दी है। सीमा यादव ने सोमवार को ऐलान किया कि वह जेल से ही कानपुर देहात की सिकंदरार विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ेगी। सीमा यादव की इस घोषणा के बाद सिकंदरार विधानसभा सीट से समीकरण बदलने लगे हैं।

कानपुर जेल से पेशी पर आई सीमा यादव ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए दावा किया कि उसे सपा और राजभर की पार्टी समेत कई दल टिकट देने को संपर्क कर रहे हैं। मगर वह निर्दलीय ही चुनाव लड़ेगी। सीमा ने योगी सरकार की एनकाउंटर पॉलिसी को गलत बताते हुए सरकार की जमकर आलोचना की। उसने कहा कि अपराधी को सजा देना न्यायालय का काम है। अपराध की दुनिया में व्यक्ति परिस्थितिवश आ जाता है।
सीमा यादव हत्या के एक मामले में जेल में बंद है। डेढ़ दशक पहले सीमा यादव का चम्बल के बीहड़ो में डंका बजता था। चम्बल के बीहड़ में उसकी बड़ी धमक रही है। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की सियासत तेज हो गयी है। इस सियासी सफर में अब सीमा भी शामिल हो गई है। पत्रकारों से बातचीत में सीमा ने ऐलान किया है कि मैं इस बार कानपूर देहात की सिकंदरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ूंगी।

सीमा ने दावा किया कि मुझे चुनाव लड़ाने लिए वैसे तो लोक जनशक्ति, सपा, ओम प्रकाश राजभर की सुहैल देव पार्टी जैसी पार्टियों ने संपर्क किया है लेकिन मैं निर्दलीय ही चुनाव लड़ूंगी। सीमा यादव ने कहा कि मैं 2017 में सिकंदरा से विधानसभा और 2019 में भदोही लोकसभा सीट से चुनाव लड़ चुकी हूं। मैं निर्दलीय चुनाव लड़ूंगी। ज्ञात हो कि अगले साल मार्च-अप्रैल में पांच राज्यों के साथ ही उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होंगे।

यह भी पढ़ेंः-UP चुनाव से पहले संघ प्रमुख भागवत और सपा संरक्षक मुलायम की मुलाकात, सियासी गलियारों में बढ़ी हलचल