masiruddin minhas

लखनऊ /वाराणसी। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से पकड़े गए आंतकियों से पूछताछ में लगातार बड़े खुलासे हो रहे हैं। यूपी एटीएस ने आतंकियों के पास से कई प्रमुख जगहों के नक्शे बरामद किए हैं। आतंकियों के पास से अयोध्या के राम मंदिर ( Ram mandir) के आसपास की रेकी के नक्शे मिले हैं। काशी (Kashi ) और मथुरा (Mathura) के भी धार्मिक स्थलों के नक्शे एटीएस ने आतंकियों के पास से बरामद किया है। नक्शों को अलग-अलग प्वाइंट से चिंहित किया गया है। गोरखपुर के भी एक इलाके की सारी जानकारी आतंकियों के पास से यूपी एटीएस को मिली है। रविवार का दोनों आतंकी पकड़े जाने के बाद से उत्तर प्रदेश के कई बड़े शहरों के सार्वजनिक और धार्मिक स्थलों की संदिग्ध, गोपनीय जानकारी भी गिरफ्तार दोनों आतंकियों के पास से बरामद की गई है। एटीएस ( ATS) को टेलीग्राम, वीडियो कॉल, व्हाट्सएप कॉल और चैट भी मिली है।

हिरासत में लिए गए 1 दर्जन से ज्यादा संदिग्ध
ज्ञात हो कि एटीएस ने पिछले 24 घंटों में 1 दर्जन से ज्यादा संदिग्धों को हिरासत में लिया है। संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। कानपुर के कुछ युवा भी गिरोह में शामिल हैं और सक्रिय रूप से आतंकियों के संपर्क में हैं। एटीएस की टीम ने चमनगंज के पेंचबाग और जाजमऊ में छापेमारी कर चार युवाओं को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गये लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। एटीएस की 3 टीमें अभी भी कानपुर में हैं। एटीएस कुछ दस्तावेज भी कानपुर से लखनऊ लाई है।

पहले भी बना चुके हैं निशाना
ज्ञात हो कि इंडियन मुजाहिदीन, हूजी और इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया के आतंकी भी प्रेशर कुकर का इस्तेमाल करते थे। 23 नवंबर 2007 को लखनऊ, फैजाबाद और वाराणसी में सिलसिलेवार विस्फोट किए थे। इन सभी में टिफिन बम का इस्तेमाल हुआ था। यह बम प्रेशर कुकर बम की तर्ज पर ही तैयार किया गया था। इन धमाकों को इंडियन मुजाहिदीन और हूजी के आतंकियों ने मिलकर अंजाम दिया था। लखनऊ में आतंकियों के पकड़े जाने का बाद वाराणसी में हाई अलर्ट कर दिया गया है। काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी क्षेत्र की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, घाटों और सार्वजनिक स्थलों पर पुलिस की निगरानी बढ़ी है। 15 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रस्तावित वाराणसी दौरा है। पीएम के दौरे को देखते हुए सख्त नजर रखी जा रही है।

यह भी पढ़ेंः-UP को दहलाने की साजिश नाकाम, गिरफ्तार आतंकियों के ऐसे थे मंसूबे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here