फिर दोहराया बिकुरू कांड, लाठी, डंडों और ईंटों से पुलिस पर हमला, दरोगा समेत एक सिपाही घायल

678

कुख्यात अपराधी रहा विकास दुबे को जब पुलिस पकड़ने गई थी तो उसके और उसके साथियों को खाकी का तनिक भी खौफ न था और उन्होंने पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया। हालांकि बाद में गिरफ्त में आने के बाद वो पुलिस एनकाउंटर में गोलियों का शिकार हो गया, लेकिन अभी भी सूबे में इस तरह का घटनाएं थमती हुई नजर आ रही है। अभी ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कौशांबी के कड़ा धाम के कछुआ गांव से सामने आया है, जहां पर एक चोर को पकड़ने गई पुलिस पर ग्रामीणों ने ताबड़तोड़ हमला कर दिया। स्थिति यह रही कि इस हमले की वजह से एक सिपाही और एक दरोगा गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिसकर्मियों पर हुए हमले की खबर सुन महकमे में हड़कंप मच गया है। उधर, तीन ग्रामीणों को हिरासत में भी लिया जा चुका है।

ये भी पढ़े :विकास दुबे के खजांची और 3 भाईयों पर गैंगस्टर कार्रवाई, कार में लगा था सचिवालय का पास

यहं पर हम आपको बताते चले कि कौशांबी के कड़ा धाम के कछुआ गांव में मुखबिर की सूचना के आधार पर एक चोर को पकड़ने पुलिस गई थी, जिसके बाद पुलिस ने सिंटू नाम के एक युवक को हिरासत में ले लिया था। वहीं हिरासत में लेने के बाद उस युवक की मां अन्य महिलाओं के साथ लाठी, डंडे और ईंटों से पुलिसकर्मियों पर हमला करने के लिए आ गई। इस हमले में एक दरोगा और सिपाही को गंभीर रूप से चोटें आई हैं। इतना ही नहीं, ग्रामीणों के दुस्साहस का अंदाजा आप महज इसी से लगा सकते हैं कि इन लोगों ने हमले के दौरान दरोगा का सर्विस रिवाल्वर और मोबाइल तक छीन लिया। जैसे-जैसे ग्रामीण इन पर हिंसक हो रहे थे। इनके लिए स्थिति पर काबू पाना मुश्किल हो रहा था। खैर, कैसे भी करके दरोगा और सिपाही वहां से अपनी जान बचाकर भागने में कामयाब हुए।

उधर, पुलिसकर्मियों पर हुए हमले की खबर सुन महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस की सख्त कार्रवाई के क्रम में अब तक तीन ग्रामीणों को हिरासत में लिया जा चुका है। पुलिस का साफ कहना है कि ग्रामीणों की इस करतूत को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हिरासत में लिए गए हमलवरों के खिलाफ रासूका के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस टीम पर किए गए हमले की इस करतूत को तनिक भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। याद दिला दें कि इससे पहले कानपुर के बिकुरू में भी कुख्यात गेंगस्टर रहा विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर भी बदमाशों ने हमला किया था। जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।

ये भी पढ़े :नहीं खत्म हुआ विकास दुबे का खौफ, अब इंजीनियर को मिली जान से मारने की धमकी, कहा-मैं अभी जिंदा हूं