up ats

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा और संरक्षा को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। देवबंद में एटीएस कमांडो सेंटर खोलने का निर्णय लिया है। योगी आदित्यनाथ ने घोषणा के साथ ही कहा है कि प्रदेश भर से चुने हुए करीब डेढ़ दर्जन तेज तर्रार एटीएस अफसरों की तैनाती होगी। देवबंद में एटीएस सेन्टर खोले जाने की की जानकारी मुख्यमंत्री के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपााठी ने ट्वीट कर दी है। योगी जी ने तत्काल प्रभाव से ‘देवबंद’ में एटीएस कमांडो सेंटर खोलने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि एटीएस सेंटर का काम युद्धस्तर पर शुरू भी हो गया है। एटीएस सेंटर में प्रदेश भर से चुने हुए करीब डेढ दर्जन तेज तर्रार एटीएस अफसरों की तैनाती होगी।

देवबंद क्षेत्र की मस्जिद में पहली बार फहराया तिंरगा
देवबंद को मुसलमानों का गढ़ और फतवों का शहर कहा जाता है। इस्लामिक स्टडी सेंटर के रूप में इस केन्द्र को ख्याति है। इस बार स्वतंत्रता दिवस पर यहां एक नया इतिहास लिखा गया है। क्षेत्र के मानकी गांव की जमा मस्जिद परिसर में पहली बार तिरंगा फहराया गया। इस तिरंगा फहराये जाने से लोगों में देशभक्ति की भावना का संचार हुआ है। तिरंगा भी ऐसा है जिसे कई किमी दूर से देखा जा सकता हो। भाजपा विधायक कुंवर बृजेश सिंह ने तिरंगा फहराया तो पूरा गांव भारत माता के नारों से गूंज उठा। यह पहली बार है कि मस्जिद पर 58 फिट का तिरंगा फहराया गया। 15 हजार की आबादी वाले गांव मानकी में ग्राम पंचायत की ओर से जामा मस्जिद कमेटी की अनुमति के बाद मस्जिद परिसर में 58 फीट का पिलर बनाया गया था। जिस पर 14 फीट चैड़ा और 21 फीट लंबा राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया था।

विधायक बृजेश सिंह ने कहा कि देश सभी भारत वासियांे का है। भाजपा सरकार की सबका साथ सबका विकास का नतीजे अब देश के सामने आने लगे है। मानकी गांव तिरंगा फहराना उनके लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि यहां के मुस्लिम समाज ने देश को तोड़ने वाले लोगों के मुंह बंद कर दिए। कार्यक्रम के संयोजक ग्राम प्रधान मामूर हसन ने कहा स्वतंत्रता संग्राम में हर वर्ग ने अपनी अहम हिस्सेदारी निभाई थी। उन महान क्रांतिकारियों की बदौलत ही आज हम आजादी की खुली हवा में सांस के रहे है।

यह भी पढ़ेंःमाचिस की तीलियों से बारूद इकट्ठा कर रहे थे अलकायदा के आतंकी, एटीएस ने कोर्ट को दी ये जानकारी