Monday, December 6, 2021

अमित शाह और YOGI ने रखी राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला, आजमगढ़ की छवि के लिए सपा पर साधा निशाना

Must read

- Advertisement -

आजमगढ़। गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को आजमगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। इस दौरान अमित शाह ने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिस आजमगढ़ को सपा शासन में दुनिया भर में कट्टरवादी सोच और आतंकवाद का अड्डा माना जाता था, उसी आजमगढ़ की भूमि पर आज मां सरस्वती का धाम बनाने का काम होने जा रहा है। अब आजमगढ़ शिक्षा के लिए जाना जाएगा। मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को यहां बनने वाले विश्वविद्यालय का नाम महाराजा सुहेलदेव के नाम पर रखने का सुझाव देना चाहता हूं। अमित शाह ने कहा, मोदी जी  JAM लाए हैं। ताकि भ्रष्टाचार के बिना खरीदी हो सके। J का मतलब है जनधन खाता, A का मतलब आधार और M का मतलब है हर हाथ में मोबाइल। उन्होंने कहा, मैंने गुजरात में ये बयान दिया. तो सपा के नेता ने कहा कि हम भी JAM लाए हैं। सपा के JAM  का मतलब है, J से जिन्ना, A से आजमखान और M का मतलब मुख्तार।

- Advertisement -

 Amit shah azm

10 यूनिवर्सिटी का वादा पूरा हुआ

अमित शाह ने कहा कि हमने 2017 में अपने घोषणा पत्र में कहा था कि 10 नए यूनिवर्सिटी बनाएंगे। आज 10 यूनिवर्सिटी बनाने का काम पूरा हो चुका है। 40 मेडिकल कॉलेज बनाने का हमने वादा किया था, ये वादा भी हमने पूरा किया है। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में मुख्यमंत्री योगी जी ने कई परिवर्तन किए हैं। पहले यहां जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण का राज चलता था। योगी जी ने जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण पर पूर्ण विराम लगाने का काम किया है।

योगी ने माफिया राज से दिलाई मुक्ति

अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश को माफिया राज से मुक्ति दिलाने का काम योगी जी की सरकार ने किया है। आजमगढ़ इसका उदाहरण है। कैराना से लोग पलायन कर रहे थे। बेटियों की उच्च शिक्षा नहीं हो पाती है। आज माफिया उत्तर प्रदेश छोड़कर चले गए हैं. अब यहां कानून का राज है।

चुनाव में अखिलेश के लिए जिन्ना प्रिय

समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि चुनाव आया तो अखिलेश यादव को जिन्ना प्रिय हो गए, जिसे कोई नहीं मानता है। उन्होंने कहा कि मैं यहां से योगी आदित्यनाथ को सर्टिफिकेट देना चाहता हूं कि उन्होंने पूर्वांचल को मच्छर और माफिया से मुक्त कर दिया। पीएम मोदी ने अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण का काम शुरू किया। अमित शाह ने कहा कि जनसंघ की स्थापना से धारा 370 हटाने का वादा किया था जिसे दोबारा बहुमत मिलने पर हटा दिया गया। हमेशा के लिए कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बना दिया। बीजेपी को आजमगढ़ विधानसभा की सीटें नहीं मिलती थी, इस बार किसी और का खाता नहीं खुलने दें।
केन्द्र सरकार में गृह मंत्री अमित शाह ने आजमगढ़ के लिये सौगातों की झोली खोल दी। अमित शाह आजमगढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ राज्य विश्वविद्यालय का तोहफा देने के साथ जनसभा सम्बोधित किया। आजमगढ़ की दस विधानसभा सीट में से पांच बसपा तथा चार सपा के पास हैं। एक पर भाजपा ने अपना खाता खोला है। आजमगढ़ में दोपहर 1.48 बजे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे। उनके साथ उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रभारी केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान भी हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने जनता का अभिवादन किया।

आजमगढ़ की बदल दी छवि: योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को आजमगढ़ में केन्द्रीय गृह तथा सहकारिता मंत्री अमित शाह का स्वागत किया। सीएम योगी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश में हर जगह के साथ ही उत्तर प्रदेश में आप लोगों को भारतीय जनता पार्टी की कथनी और करनी में अंतर नहीं देखने को मिला है। भाजपा ने जो कहा वह करके भी दिखाया है। विश्व में भारत की प्रतिष्ठता भी काफी बढ़ी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरगामी सोच के कारण देश आज अग्रिम पंक्ति में खड़ा है। उन्होंने इसके बाद आजमगढ़ को लेकर भाजपा तथा अन्य दलों के काम को बताया। उन्होंने कहा कि यह वही आजमगढ़ है जहां का नाम आते एक धूमिल छवि बन जाती थी। 2017 व 2014 के पहले यहां का नौजवान जब देश के अंदर कहीं जाता था तो होटल में कमरा नहीं मिलता था। धर्मशाला में कमरा नहीं मिलता था। आजमगढ़ के सामने पहचान का एक संकट खड़ा हो गया था। योगी ने कहा कि हमने इस जिले को विकास की मुख्यधारा में लाकर खड़ा किया है। एक जिला एक उत्पाद के माध्यम से रोजगार का बड़ा माध्यम दिया। उन्होंने कहा कि भले ही आजमगढ़ ने दो-दो मुख्यमंत्री दिए हो, लोकसभा में सांसद चुनकर के भेजे हों। आजमगढ़ की पहचान धूमिल ही हुई है। उनके लोगों ने इस बड़े जिले पहचान का संकट दुनिया के सामने खड़ा किया है।

डबल इंजन की सरकार से ही होता है कल्याण

उत्तर प्रदेश के माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि जब कहीं पर भी डबल इंजन की सरकार होती है तो गरीब, मजलूम, पिछले, दलितों, मजदूरों का कल्याण होता है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे गृहमंत्री ने 70 वर्ष की समस्या को 70 मिनट में समाप्त किया था उसी तरह से आज आजमगढ़ को एक नई पहचान दिला रहे हैं। डॉ. शर्मा ने कहा कि एक समय था कि जब आतंकियों से जुड़े लोगों के लिए छापेमारी होती थी तो उसके तार आजमगढ़ से जरूर मिलते थे। उन्होंने कहा कि यह साहित्य की नगरी और महान विभूतियों की धरती है, लेकिन पिछली सरकारों ने इस पावन धरती को माफिया की धरती बना दिया था।

आजमगढ़ के यशपालपुर-आजमबांध प्रांगण में गृह मंत्री अमित शाह के आगमन को देखते हुए दोपहर में 12ः00 बजे ही आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय शिलान्यास कार्यक्रम स्थल भर गया था। अमित शाह तथा योगी आदित्यनाथ के जयकारे की गूंज सुनाई पड़ रही थी। भाजपा से जुड़े जनप्रतिनिधि, पदाधिकारियों में आज के कार्यक्रम को लेकर ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने की होड़ के कारण जनपद में चहुंओर जाम की नौबत नजर आई।
केंद्रीय गृहमंत्री एवं सहकारिता मंत्री आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय की नींव रखने पहुंचे। जनपद के विकास के लिए यह कार्यक्रम मील का पत्थर साबित होने वाला है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के अलावा जिलेवासी भी इस कार्यक्रम को लेकर उत्साहित हैं।

आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय

आजमगढ़ की तहसील सदर के चंडेश्वर-कम्हरिया मार्ग स्थित ग्राम यशपालपुर-आजमबांध में राज्य विश्वविद्यालय स्थापना के लिए 50.27 एकड़ भूमि अधिग्रहित की गई है। केंद्रीय गृह मंत्री के शिलान्यास केे बाद निर्माण प्रक्रिया भी रफ्तार पकड़ेगी। शासन से प्रथम चरण की धनराशि 108 करोड़ रुपये आवंटित कर दिया है, जिससे प्रथम फेज का निर्माण होगा।

मऊ के लोगों को भी राज्य विश्वविद्यालय से नई उम्मीदें

कभी आजमगढ़ जिले का हिस्सा रहे मऊ के लोगों को आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना ने नई उम्मीद से भर दिया है। इस विश्वविद्यालय से संबद्ध मऊ जिले के 150 डिग्री कालेजों के हजारों छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय से उनकी दूरी घटने से खुश हैं। उन्हें यह भी उम्मीद है कि जल्द ही उन्हें समय की मांग के अनुरूप पाठ्यक्रम पढने का मौका मिलेगा।

नए विषयों में संभावनाओं के खुलेंगे द्वार

आजमगढ़ व मऊ जिले मेें विभिन्न विषयों के अध्ययन के दृष्टिकोण से उच्च शिक्षा के ज्यादा विकल्प नहीं हैं। आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना से अनेक नई विषयों में संभावनाओं के द्वार खुलेंगे।

विश्वविद्यालय परिसर तक बनेगी 150 मीटर फोर लेन सड़क

शिलान्यास होते ही प्रथम चरण में 108 करोड़ रुपये से राज्य विश्वविद्यालय का निर्माण शुरू हो जाएगा। उसके बाद फेज-2 पर कार्य किया जाएगा। फेज-1 में एकेडमिक ब्लाक और हास्टल बनाए जाएंगे और फेज-2 में रेसिडेंसियल कांप्लेक्स बनाए जाएंगे। मुख्य गेट से विश्वविद्यालय परिसर तक जाने को 24 मीटर चैड़े 150 मीटर लंबे दो रास्ते होंगे। दोनों तरफ की अलग-अलग सड़कें 8.75 मीटर तो बीच में 2.50 मीटर का डिवाइडर बनाकर पौधे रोपित किए जाएंगे। इसमें आठ करोड़ रुपये रास्ते के लिए किसानों से खरीदी जाने वाली जमीन का भी मूल्य शामिल है। हाईवे से विश्वविद्यालय तक आवागमन सुचारू करने के लिए 934 लाख रुपये से फोर लेन सड़क बनेगी।

राज्य विश्वविद्यालय से संबंद्ध होंगे 352 कालेज

आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद आजमगढ़ व मऊ के कुल 352 कालेज वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर से अलग होकर यहां से संबंद्ध होंगे। पूर्वांचल विश्वविद्यालय में गाजीपुर व जौनपुर के 453 कालेज शेष रह जाएंगे। पूर्वांचल विश्वविद्यालय में वर्तमान में जौनपुर, आजमगढ़, गाजीपुर, मऊ, प्रयागराज के कालेज संबंद्ध हैं। यहां कुल 805 कालेजों में से आजमगढ़ के 211, गाजीपुर के 282, मऊ के 141, जौनपुर के 170, प्रयागराज हंडिया के एक कालेज संबंद्ध है।

यह भी पढ़ेंः-सपा के गढ़ में गरजेंगे अमित शाह तो योगी के गढ़ में अखिलेश, बस्ती में होगा खेल महाकुंभ का आगाज

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article