UP में इस दिन से खुल जाएंगे सभी स्कूल, शिक्षकों सहित छात्रों को करना होगा इन नियमों का पालन

1247

महामारी के इस दौर में अब बदलावों की बयार के सहारे आम जीवन को पटरी पर लाने की कवायद शुरू हो चुकी है। इस बीच अब स्कूल और कॉलेजों को खोलने पर विचार विमर्श किया जा रहा है। इस संदर्भ में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन के चौथे चरण के बाद दिशानिर्देश जारी किए हैं। दिशानिर्देश में स्कूलों को खोलने के लिए सभी नियम कानून तय कर दिए गए हैं। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में आगामी 21 सितंबर से सभी स्कूलों को खोल दिया जाएगा, जिसमें 9वीं से 12वींं कक्षा के तक के छात्र अपने माता-पिता से इजाजत लेने के बाद स्कूलों में अपने शिक्षकों से सलाह लेने के लिए जा सकते हैं। लेकिन हां.. दिशानिर्देश के मुताबिक इसके लिए सर्वप्रथम छात्रों को अपने माता-पिता से अनुमति लेनी होगी।

इन लोगों को मिलेगी स्कूल जाने की इजाजत 
केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देश के मुताबिक,  प्रदेश के स्कूल में महज 50 फीसद कर्मचारियों को ही जाने की इजाजत दी गई है। उधर, छात्र अपनी स्वैच्छा के आधार पर शिक्षक से सलाह लेने के लिए जा सकते हैं। वहीं, बीमार शिक्षकों सहित अन्य कर्मचारियों के स्कूलों जाने पर यथावत प्रतिबंध रहेगा। गर्भवती महिला कर्मचारियों के लिए यथावत स्कूल जाने पर प्रतिबंध रहेगा।

करना होगा इन नियमों का पालन 
यहां पर हम आपको बताते चले कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को सुचारू करने की दिशा में यह कदम उठाया गया है। साथ ही इस दौरान शिक्षकों समेत छात्रों को दिशानिर्देश के मुताबिक निर्धारित नियमों का अनुपालन करना होगा। छात्रों को शिक्षकों सहित अपने किसी सहपाठी के साथ किसी भी चीज के साझा करने पर प्रतिबंध रहेगा। कमरे में एसी का टेम्परेचर भी 24 से 30 डिग्री के बीच ही रहेगा। स्कूल में नियमित प्रार्थना सहित अन्य कार्यक्रमों पर यथावत प्रतिबंध लागू रहेगा। शिक्षकों और छात्रों के थूकने पर पाबंदी रहेगी। ये भी पढ़े :बीजेपी के विरोध के बावजूद योगी सरकार दिल्ली की तर्ज पर यूपी में लागू करेगी ऑड इवन योजना