डॉक्टर से अखिलेश यादव की बदतमीजी, बोले- तुम सरकारी आदमी हो, भाग जाओ यहां से

858

सत्ता से कोसों दूर हैं ये, मगर सत्ता का खुमार अभी तक बरकरार है इनमें। खुमार भी ऐसा कि महज एक सेकेंड में ही ये किसी भी सरकारी मुलाजिम को उसकी असली औकात याद दिला देते हैं। कहते हैं, ‘तुम बहुत छोटे आदमी हो। भाग जाओ यहां से। तुम मत बोले। तुम सरकारी आदमी हो। हम जानते हैं, तुम सरकारी आदमी हो। इसलिए तुम्हे नहीं बोलना चाहिए’। ये भी पढ़े :अखिलेश यादव ने PM मोदी को दी चुनौती, कहा- मैं NPR का फॉर्म नहीं भरूंगा, न ही सपा का कोई कार्यकर्ता भरेगा

ये जो उक्त बयान है। ये किसी और ने नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री व सपा संरक्षक अखिलेश यादव ने उस समय दी, जब वे एक डॉक्टर से खफा हो गए। यादव जी की बेमुरव्वत का अंदाजा आप इससे भलीभांति लगा सकते हैं कि उन्होंने मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर को उसकी असली औकात याद दिला दी। कहा, ‘तुम छोटे आदमी हो, भाग जाओ’। मतलब… अब अखिलेश यादव सियासत से रूखसत होकर लोगों के औकात की पैमाइश करने लगे हैं कि कौन छोटा और कौन बड़ा है।

इतना ही नहीं, यादव साहब के शाब्दिक वाणों पर यही विराम नहीं लगा। इस दौरान वे अपने धुर विरोधी बीजेपी व आरएसएस की बेसाखियों का सहारा लेते हुए डॉक्टर साबह पर बरस पड़े। बोलें, ‘तुम सरकार का पक्ष मत लो। तुम छोटे आदमी हो। तुम आरएसएस के आदमी हो सकते हो।  बीजेपी के आदमी हो सकते हों, मगर ये बात नहीं कह सकते कि वो क्या कर रहा है। इसके बाद अखिलेश यादव इस कदर भड़क गए कि उन्होंने डॉक्टर साहब से कह दिया,’ एकदम दूर हो जाओ, यहां से, बाहर भाग जाओ।

…तो यहां पर हम आपको बताते चले कि अखिलेश यादव सोमवार को कन्नौज के छिबरमऊ में बस हादसे में घायल यात्रियों का हाल चाल जानने के लिए शौ-शय्या अस्पताल पहुंचें थें। इसी क्रम में वे डॉक्टर डीएस मिश्रा पर इस कदर भड़क गए कि उन्होंने ये उक्त भड़ास उनपर निकाल डाली।

इसी बीच डॉक्टर डीएस मिश्रा ने अखिलेश यादव के इस रवैये पर कहा कि उन्होंने मेरे साथ अभद्रता की है। मुझे आरएसएस और बीजेपी का व्यक्ति बताकर कमरे से बाहर निकाल दिया। आपाताकालीन वार्ड में मेरी ड्यूटी लगी हुई थी। इस मौके पर अखिलेश यादव ने घायलों को वितरित की जाने वाले मुआवजा राशि के मामले में सरकार पर लोगों से भेदभाव करने का आरोप लगाया। दो घायलों को अभी तक चेक नहीं मिला है। बता दें कि अखिलेश यादव ने उक्त बातें मरीजों से मुखातिब होने के बाद कही। ये भी पढ़े :उन्नाव में पुलिस और किसानों के बीच हुआ खूनी संग्राम, अखिलेश यादव ने BJP पर साधा निशाना