Categories
उत्तर प्रदेश लखनऊ

अखिलेश ने साधा निशाना, इत्र कारोबारी का BJP से है सम्बन्ध, कही ये बातें…

लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले सियासी दलों में जुबानी जंग तेज हो गयी है। सत्तारूढ़ बीजेपी और मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी में सियासी तल्खियां बढ़ गयी हैं। इस बीच सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने इत्र कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों पर छापे, सपा की रैलियों में भीड़, गंगा सफाई, किसानों के मुद्दे, कानून व्यवस्था को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर तल्ख निशाना साधा है। समाजवादी इत्र बनाने वाले पीयूष जैन के ठिकानों पर आयकर और जीएसटी विभाग की छापेमारी में मिले अकूत संपत्ति से अखिलेश यादव ने किनारा कर लिया है। अखिलेश यादव ने कहा कि पीयुष जैन का संबंध सपा से नहीं बल्कि बीजेपी से है। अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर के जिस व्यापारी के यहां छापा पड़ा है, उसका सम्बन्ध सपा से नहीं, बल्कि बीजेपी से भी है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की रैलियों में उमड़ रही भीड़ से भारतीय जनता पार्टी घबरा गई है। घबराहट में भारतीय जनता पार्टी ऐसी भाषा बोल रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि उनका और उनकी पार्टी से जुड़े लोगों के फोन टैप करवाए जा रहे हैं। अखिलेश यादव ने असदुद्दीन ओवैसी से गठबंधन से इनकार किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्री दलों को साथ लेकर चल रहे हैं। क्षेत्रीय दलों का साथ मिल रहा है, उनके भी कार्यकर्ता हैं। चाचा शिवपाल यादव से भी बात हो चुकी है और वह भी साथ हैं।

सपा सरकार की योजनाओं को रोकने का आरोप

अखिलेश यादव ने कहा कि लखनऊ में जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर लखनऊ की सबसे ऊंची इमारत है। इस इमारत का काम इस सरकार ने रुकवा दिया। हमारी सरकार में किसी पुरानी योजनाओं को नहीं रखा गया। हमारी सरकार में पुरानी योजनाओं को और बेहतर किया। उन्होंने कहा कि बिजली और सिंचाई महंगी है। किसानों को महंगी खाद खरीदनी पड़ रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि आज किसान बदलाव चाहता है। यूपी की जनता बदलाव चाहती है।

किसानों की आय पर साधा निशाना

अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र की सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था लेकिन आज किसानों की आय आधी हो गई है। अखिलेश यादव ने कहा कि डिप्टी सीएम पर आपराधिक मामले हैं। सबसे ज्यादा केस भाजपा विधायकों पर हैं. टॉप 10 अपराधियों की लिस्ट नहीं दी। अखिलेश ने सवाल करते हुए पूछा कि टेनी पर बुलडोजर कब चलेगा? गृह राज्य मंत्री पर कार्रवाई कब होगी? हमें लखीमपुर नहीं जाने दिया गया। हमारे कार्यकर्ता लखीमपुर गए थे।

जनता अब ढूंढ रही है योग्य सरकार

अखिलेश यादव ने कहा कि जनता अब योग्य सरकार ढूंढ रही है। बीजेपी का हर विज्ञापन झूठा है। बीजेपी की हर बात झूठी है। लोग अब बीजेपी को समझ गए हैं। बीजेपी नेता लोगों को बहका रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपना लैपटॉप का दिखाया गया था। वोट के लिए टैबलेट दे रहे हैं। एक करोड़ नौकरियों की सूची कहां है। आपने डिजिटल करके क्या किया? यूपी के लिए हमारे पास विजन है। हम उत्तर प्रदेश को नए रास्ते पर ले जाएंगे। ये नई समाजवादी पार्टी है।

यह भी पढ़ेंः-टेनी पर कार्रवाई नहीं, सपा नेताओं पर छापेमारी कर डरा रहीं एजेंसियां : अखिलेश यादव