Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

अखिलेश ने किया 300 यूनिट मुफ्त बिजली वादा, आपरेशन खुशबू पर ऐसे बढ़ी तल्खी

लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले जनसा से चुनावी वादे किये जा रहे हैं। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने अपने चुनावी वादे में घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का वादा किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि किसानों को सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त मिलेगी। ज्ञात हो कि इससे पहले समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर हादसे में मरने वाले साइकल सवारों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की थी। पार्टी ने ट्वीट कर कहा था कि साइकिल से चलने वालों की एक्सिडेंट में मौत होने पर समाजवादी सरकार पांच लाख रुपये का मुआवजा देगी। अब उत्तर प्रदेश की जनता से समाजवादी पार्टी ने मुफ्त बिजली देने का वादा किया है। ज्ञात हो कि यूपी में अगले साल होने वाले चुनावों के लिए पार्टियों की ओर से राजनीतिक घोषणाओं और वादों का दौर जारी है। बिजली को लेकर इससे पहले यूपी के सियासी दंगल में जोर लगा रही आम आदमी पार्टी भी 300 यूनिट फ्री और किसानों के लिए निशुल्क बिजली का ऐलान कर चुकी है। मतदाताओं को लुभाने के लिए बिजली का तेजी से सहारा लिया जा रहा है।

छापेमारी पर तल्ख हुए अखिलेश

अखिलेश यादव के करीबी और सपा एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी जैन के ठिकानों पर इनकम टैक्स विभाग की टीम ने छापेमारी की है। सपा नेता के घर पर आयकर विभाग की टीम की रेड ऐसे समय पड़ी है जब उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर माहौल गर्म है। सत्तापक्ष से लेकर विपक्ष तक चुनावी अभियान में जुटी हैं। शुक्रवार को अखिलेश यादव ने छापेमारी को लेकर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि पहले से पता था कि समाजवादियों के यहां छापे पड़ेंगे। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा था कि नफरत की दुर्गंध फैलाने वाले सोहार्द की सुगंध कैसे पसंद करेंगे।

अखिलेश ने कहा कि पहले (पीयूष जैन) जहां छापा पड़ा उससे समाजवादी पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। जबकि पीयूष जैन की छापेमारी से समाजवादी पार्टी से जोड़ दिया गया। अखिलेश ने दावा किया कि बीजेपी की सेंट्रल एजेंसी तब पुष्पराज जैन को ढूंढने गई थी लेकिन छापा कथित अपने ही सहयोगी पीयूष जैन के यहां मार दिया। छापेमारी की भूल से भाजपा के साथ छापेमारी एजेंसी भी बेनकाब हो गयी। अब बीजेपी ने अपनी खीज निकालने के लिए इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन के यहां छापा पड़वाया है।

यह भी पढ़ेंः-नफरत की दुर्गंध फैलाने वाले सोहार्द्र की सुगंध कैसे पसंद करेंगे : अखिलेश यादव