अखिलेश ने बढ़ायी BJP की मुश्किलें, अब इस सीट पर नये प्रत्याशी की हो रही तलाश

0
1000
Arun kant yadav

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के गढ़ में कमल खिलाने के प्रयास में जुटी भारतीय जनता पार्टी को अखिलेश यादव ने करारा झटका दिया है। भारतीय जनता पार्टी को वर्ष 2017 में 21 साल बाद जिले की एक मात्र सीट फूलपुर पवई पर अरुणकांत यादव ने कमल खिला दिया लेकिन वर्ष 2022 में बीजेपी के लिए मुश्किल होगी। अरुणकांत यादव के पिता बाहुबली रमाकांत यादव को समाजवादी पार्टी ने इसी सीट से टिकट दे दिया। रमाकांत यादव को टिकट मिलने के बाद भाजपा को अपनी रणनीति बदलनी पड़ी है। भारतीय जनता पार्टी के इकलौते विधायक अरुणकांत यादव विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे।

भाजपा विधायक अरूणकांत का कहना है कि वह पार्टी में ही रहेंगे लेकिन विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे। बीजेपी नेतृत्व ने उन्हें एमएलसी का चुनाव लड़ने का निर्देश दिया है। ज्ञात हो कि भारतीय जनता पार्टी ने वर्ष 1996 के विधानसभा में अंतिम बार लालगंज सीट जीती थी। नरेंद्र सिंह ने सुखदेव राजभर को हराकर विधानसभा पहुंचे थे। इसके बाद जिले में हुए सभी विधानसभा चुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने फूलपुर पवई से अरुणकांत यादव को टिकट दिया था।

इस वजह से भाजपा ने बदली रणनीति

अरुणकांत के पिता रमाकांत यादव को समाजवादी पार्टी ने इसी विधानसभा सीट से प्रत्याशी घोषित कर दिया है। पुत्र की सीट पर पिता की दावेदारी ने भाजपा की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। पार्टी ने पिता और पुत्र आमने-सामने न हो इसके लिए रणनीति को बदल दिया है। पार्टी ने अब अरुणकांत यादव को इस सीट से लड़ाने का फैसला बदल दिया है।

Akhilesh yadav jaunpur

भाजपा जनता पार्टी अब इस सीट से अब नये उम्मीदवार तलाश रही है। सपा के बागी श्याम बहादुर यादव भाजपा का दामन थाम सकते हैं और पार्टी रमाकांत के सामने उन्हें मैदान में उतार सकती है। विधायक अरुणकांत यादव का कहना है कि उनकी सीट से उनके पिता ने सपा से टिकट मिल गया है, जिसके कारण पार्टी ने उनको इस सीट से लड़ने से मना कर दिया है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने आश्वासन दिया है कि उन्हें एमएलसी का चुनाव लड़ाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस सीट से भाजपा जिसे भी पार्टी का उम्मीदवार बनायेगी वे उसके पक्ष में चुनाव प्रचार करेंगे।

ये भी पढ़ेंः-अखिलेश की खेमेबंदी से पिता-पुत्र के बीच रोमांचक मुकाबला, बेटे को टिकट देने वाली है BJP