जैसा कि यूपीवार्ता ने सबसे पहले खबर दिखाई थी कि बीते दिन नामंकन प्रक्रिया में एक व्यक्ति की गलत तरीके से मदद करना बस्ती के थाना इंस्पेक्टर को महंगा पड़ गया। उसे लाइन हाजिर कर दिया गया था। अब एसपी आशीष श्रीवास्तव ने SHO शमशेर सिंह सहित 5 पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया है। दरअसल, बस्ती के नामांकन प्रक्रिया में थानाध्यक्ष द्वारा नामांकन प्रक्रिया में एक प्रत्याशी के लिए इस तरह भाग लेना राजनीतिक दलों के लिए गलत मदद करना साबित हो गया और बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध किया। जिस पर थानाध्यक्ष शमशेर सिंह वहां लाठी चलवा दी , इस कारण कई लोग जख्मी भी हो गये। इसके बाद थानाध्यक्ष शमशेर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया।

विदाई समारोह में निकाला जुलूस

basti daroga

थानाध्यक्ष को विदाई देने के लिए थाने के सिपाहियों ने उनको विदाई देने के लिए गाजे- बाजे के साथ जुलूस निकलवाया। इस जुलूस में थाने के सभी सिपाही, दारोगा, एसआई जश्न मनाते हुए दिख हैं। नगाढ़े पर थिरकते थानाध्यक्ष शमशेर बहादुर का साथ एसआई भीम सिंह निभा रहे हैं। इस दौरान थाने के सिपाही शमशेर सिंह जिन्दाबाद, भीम सिंह जिन्दाबाद के नारे लगाये जा रहे हैं।

थाने के सामने भी इन सिपाहियों ने ढ़ोल नगाड़े बजवाए और शमशेर सिंह के साथ समय व्यतीत किया। इस विदाई समारोह में दर्जन भर से अधिक पुलिस कर्मी शामिल हुए। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो जोरदारी से वायरल हो रहा है।

नहीं किया गया प्रोटोकॉल का पालन

सोशल मीडिया पर जैसे ही ये वीडियो वायरल हुआ, उसके बाद एसपी आशीष श्रीवास्तव ने इस मामले को अपने संज्ञान में लिया और बताया कि लाइन हाज़िर हुए SHO शमशेर बहादुर सिंह और पुलिस कर्मियों न प्रोटो कॉल का पालन नहीं किया। इस कारण एसपी आशीष श्रीवास्तव ने SHO शमशेर बहादुर सिंह, SI भीम सिंह, अजय सिंह, कां. प्रमोद कुमार, मनोज यादव निलंबित कर दिया। बात यहीं ना रुकी है, इसके अलावा भी कई सारे पुलिस कर्मियों पर अभी भी गाज गिर सकती है। अन्य की जांच पड़ताल अभी जारी है। अभी बाकी के थाना सिपाहियों पर आफत आना बाकी है। एसपी आशीष श्रीवास्तव के बताए अनुसार कोविड प्रोटोकॉल तोड़ने पर गौर थाने में मुकदमा भी दर्ज हुआ है।

यूपीवार्ता की खबर का दिखा असर

इसे भी पढ़ें-कार में कर रही थीं ‘आजा आजा मैं हूं…’ , तभी ड्राइवर ने कही ये बात, हो गयी आशा ताई की गुगली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here