Categories
उत्तर प्रदेश

दिव्य काशी-भव्य काशी के बाद अयोध्या में रामलला का दर्शन करेंगे इन राज्यों के CM और उपमुख्यमंत्री

वाराणसी। । बाबा विश्वनाथ की नगरी में दिव्य काशी-भव्य काशी आयोजन का हिस्सा बनने के बाद भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री मंगलवार को अयोध्या में रामलला का दर्शन करेंगे। सभी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री रामलला के दरबार में हाजिरी लगाने के साथ ही मंदिर निर्माण कार्य भी देखेंगे। ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के साथ पांच राज्यों में जल्द होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर भाजपा हिन्दुत्व और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के मुद्दों को और प्रभावी बना रही है। अयोध्या और काशी के जरिए भारतीय जनता पार्टी इस मुहिम को आगे बढ़ा रही है। सभी मेहमानों को दिव्य दर्शन कराने के लिए रामजन्मभूमि ट्रस्ट ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।

भाजपा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अयोध्या के बाद काशी मॉडल को आधार बनाकर माहौल बना रही है। अयोध्या, काशी और मथुरा शुरुआत से संघ-भाजपा और हिंदूवादी संगठनों के के एजेंडे में शामिल रहे हैं। काशी में मकर संक्रांति तक एक माह तक लगातार आयोजन होते रहेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री भी कई बार अपने संसदीय क्षेत्र में होने वाले आयोजनों का हिस्सा बनेंगे। इसी क्रम में काशी विश्वनाथ कॉरीडोर के भव्य लोकार्पण समारोह में भाग लेने के लिए भाजपा शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री सोमवार को वाराणसी पहुंच गए थे।

रामजन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय अपने सहयोगी ट्रस्टी डा. अनिल मिश्र के अलावा मंदिर की निर्माणदायी संस्था एलएंडटी और टीईसी के परियोजना प्रबंधकों संग मंगलवार को राजस्थान जा रहे हैं। सभी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री अयोध्या में मकराना और अन्य स्थान पर चल रही राम मंदिर निर्माण कार्यशाला का निरीक्षण करेंगे। वीवीआईपी का स्वागत ट्रस्ट की ओर से न्यासी विमलेन्द्र मोहन प्रताप मिश्र एवं निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेन्द्र दास करेंगे। संघ के तकनीकी सलाहकार जगदीश आफले उन्हें मंदिर निर्माण की तकनीकी प्रक्रिया से अवगत कराएंगे।

व्यू प्वाइंट से ही देेंखेंगे निर्माण कार्य

राज्यों के मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री गण रामजन्मभूमि परिसर में दूसरी पाली में पहुंचेंगे। उन सभी को दर्शन मार्ग पर व्यू प्वाइंट से ही मंदिर निर्माण कार्य दिखाया जाएगा। इस कार्यक्रम के लिए परिसर में ध्वनि विस्तारक यंत्र की व्यवस्था भी ट्रस्ट की ओर से कराई जा रही है। निर्माण प्रक्रिया को समझाने के लिए डिसप्ले बोर्ड पर डिजाइन को उसी प्रकार चस्पा किया किया गया है। अरुणाचल प्रदेश, असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड व हरियाणा के अतिरिक्त बिहार के दोनों उपमुख्यमंत्री यहां आएंगे। उनकी अगवानी के लिए प्रदेश के पर्यटन व संस्कृति मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ेंः-बरेका गेस्ट हाउस में PM मोदी ऐसे चेक कर रहे हैं CM, डिप्टी सीएम का रिपोर्ट कार्ड