यूपी बोर्ड पेपर लीक मामले में हुई कार्यवाई, सामने आया मास्टरमाइंड

भीमपुरा के निवासी आनंद नारायण चौहान उर्फ मुलायम चौहान और मनीष चौहान ही इस मामले में सबसे बड़े मास्टरमाइंड है।

0
249
paper leak

यूपी बोर्ड के इंटरमीडिएट इंग्लिश पेपर लीक हो जाने के बाद इंग्लिश का पेपर रद्द कर दिया गया। अब इस केस में एक मास्टरमाइंड का नाम सामने आया है जिसमें बताया जा रहा है कि भीमपुरा के निवासी आनंद नारायण चौहान उर्फ मुलायम चौहान और मनीष चौहान ही इस मामले में सबसे बड़े मास्टरमाइंड है। यह दोनों ही स्कूल से टैंपर प्रूफ जैकेट से निकाला था। आनंद के स्कूल का मैनेजर और मनीष चौहान को प्रिंसिपल कहा जा रहा है। उन पर छात्रों को पास करवाने का ठेका लेने का आरोप भी लगाया गया है।

ज्ञात हो कि बीते दिन यूपी के 75 जिलो में बुधवार को दूसरी पाली में 12वीं की बोर्ड परीक्षा होनी थी। यह पेपर इंग्लिश का था दोपहर को उस टाइम हड़कंप मच गया,जब पेपर लीक होने की बात सामने आई । इसके बाद पेपर को रद्द कर दिया गया। शुरुआती जांच में यह पता चला कि पेपर कि सीरीज 316 ईडी और 315 ईआई का पेपर बलिया से लीक हुआ और इस सीरीज के पेपर यूपी के 24 जिलों में भेजे गए थे। मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने 24 जिलों में परीक्षा को रद्द करके सवालों का जवाब दिया और कहा कि पेपर मजबूती से सीलबंद लिफाफे में थे कोई जानकार ही उसको लिख कर सकता था।

डीआईओएस बलिया को अब सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले में बलिया के डीआईओएस समेत स्थानीय पत्रकार के साथ 22 लोगों को अरेस्ट भी किया जा चुका है। बलिया पुलिस और यूपी एसटीएफ की हिरासत में डेढ़ दर्जन लोग हैं, जिनके पूछताछ अभी भी हो रही है। बहुत सारे मोबाइल देखे जा रहे हैं, बाद में बलिया के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने प्रशासन को अपनी रिपोर्ट भेज दी है,जिसमें कहा है कि एग्जाम सेंटर पर पेपर नॉन टीयरेबल पैकेट में प्राप्त हुए थे।

इसे भी पढ़ें- Pariksha Pe Charcha: स्टूडेंट्स से 20 बच्चों ने पूछे सवाल, पीएम ने दिया परीक्षा का खास मंत्र