Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

‘आप’ ने किया UP में बड़़ा ऐलान, हम दोनों हैं अलग-अलग, हम दोनों हैं जुदा जुदा…

  • आम आदमी पार्टी अकेले लड़ेगी चुनाव, समाजवादी पार्टी से नहीं हुआ गठबंधन

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और अखिलेश यादव की मुलाकात के बाद दोनों दलों के बीच गठबंधन के कयास लगने लगे थे लेकिन अब दोनों दलों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर पेच फंस गया है। अब आम आदमी पार्टी ने अकेले ही उत्तर प्रदेश का चुनाव में उतरने का फैसला लिया है। समाजवादी पार्टी सीटों को लेकर समझौते पर ज्यादा झुकने को तैयार नहीं थी। आम आदमी पार्टी उम्मीद से ज्यादा सीटें मांग रही थीं। पार्टी के राज्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि आम आदमी पार्टी अब राज्य की सभी सीटों पर उतरने की तैयारी कर रही है।

उन्होंने कहा कि हम अगले एक सप्ताह में 100 सीटों पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर देंगे। इसके कुछ दिन बाद ही नई सूची भी जारी होगी। आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि दिसंबर के अंत तक हमारी पार्टी 350 से 400 तक उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप दे देगी। ज्ञात हो कि संजय सिंह की अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद दोनों दलों के गठबंधन की उम्मीद सियासी फलक पर होने लगी थी। हालांकि दोनों ही दलों ने इसे लेकर आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा था।

गोरखपुर रैली में पीएम नरेंद्र मोदी ने जब यूपी के लोगों को लाल टोपी से बचने को कहा और उसे रेड अलर्ट करार दिया तो संजय सिंह की प्रतिक्रिया की थी। उन्होंने आरएसएस की काली टोपी का जिक्र करते हुए कहा था कि आपकी टोपी और नीयत दोनों ही काली हैं। इशारों में पीएम मोदी ने तंज अखिलेश यादव पर कसा था। लाल टोपी का जवाब जब आम आदमी पार्टी की ओर से आया। माना जा रहा है कि यदि आम आदमी पार्टी अकेले चुनावी समर में उतरती है तो इससे समाजवादी पार्टी जैसे दलों को ही नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ेंः-गैंगरेप पीड़िता के लिए मांगा न्याय, अखिलेश यादव और आप सांसद संजय सिंह ने BJP पर साधा निशाना