Friday, December 3, 2021

दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते गिरफ्तार हुआ सिपाही, ऐसे बन गया सॉल्वर गैंग का सदस्य

Must read

- Advertisement -

मेरठ। उत्तर प्रदेश पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षाओं में सेंधमारी करने वाले सॉल्वर गैंग का सदस्य एक सिपाही निकला है। आरोपी सिपाही को जानी पुलिस ने परीक्षा के दौरान शनिवार को गिरफ्तार किया है। आरोपी से फिलहाल एसओजी पूछताछ कर रही है। आरोपी पुलिस की गिरफ्तारी से पुलिस विभाग में सवाल उठने लगे हैं। गिरफ्तारी सिपाही की तैनाती अयोध्या पुलिस लाइन में है और वह पिछले 10 माह से अनुपस्थित है। मेरठ पुलिस अधिकारियों ने अयोध्या पुलिस अधिकारियों की इस गिरफ्तारी की सूचना दे दी है। जानी के आईटीएम कॉलेज में यूपी पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षा के लिए लिखित परीक्षा हो रही है। परीक्षा में शनिवार को एक आरोपी पकड़ा गया। आरोपी की पहचान रविकांत निवासी कासिमपुर, थाना बलदेव मथुरा के रूप में हुई। आरोपी रविकांत अभ्यर्थी रामभारत पुत्र मायाराम निवासी प्रेमपुर, आनंदीपुर मतसीना फिरोजाबाद की जगह परीक्षा देने आया था। इसी दौरान पूछताछ की तो चैंकाने वाला खुलासा हुआ। ज्ञात हुआ कि जिस सॉल्वर रविकांत को गिरफ्तार किया गया है, वह यूपी पुलिस में कांस्टेबल है। यह कांस्टेबल सॉल्वर गैंग के साथ मिलकर काम कर रहा है। आरोपी रविकांत 2019 में यूपी पुलिस में भर्ती हुआ था और वर्तमान में अयोध्या पुलिस लाइन में तैनाती है।

ऐसे गैंग के संपर्क में आया

- Advertisement -

पूछताछ में रविकांत ने बताया कि फिरोजाराबाद के मठसैना छड़ीछिपनी निवासी धर्मेंद्र के साथ उसका परिचय कुछ समय पूर्व हुआ था। इस दौरान दोनों में नजदीकियां बढ़ती गयीं। धर्मेंद्र ने बताया कि वह सॉल्वर गैंग के साथ मिलकर काम करता है। सरकारी नौकरियों में अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वर बैठाकर मोटी रकम वसूल लेते हैं। रवि ने बताया कि उसे भी मोटी रकम का लालच देकर धर्मेंद्र ने साथ मिला लिया।

आगरा में की तैयारी

रवि ने बताया कि धर्मेंद्र के कहने पर उसके साथ काम करने लगा। वह साल्वर गंैग का सदस्य हो गया। इसके बाद नौकरी से अनुपस्थित होकर उसने आगरा में भगेल मंदिर सब्जी मंडी के पास एक कोचिंग सेंटर में दरोगा भर्ती परीक्षा के लिए कोचिंग शुरू की। बताया कि शुक्रवार को वह आगरा से नोएडा परीचैक पहुंचा। यहां से धर्मेंद्र अपनी कार में लेकर मेरठ पहुंचा था। रात कार में बिताई और सुबह परीक्षा देने पहुंच गया।

फर्जी पहचान पत्र लेकर पहुंचा

एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि आरोपी कांस्टेबल फर्जी पहचान पत्र लेकर आईटीएम कॉलेज, थाना जानी में रामभारत पुत्र मायाराम निवासी प्रेमपुर, आनंदीपुर मतसीना फिरोजाबाद की जगह पर परीक्षा देने पहुंचा था। रवि को गिरफ्तार कर लिया है। मुकदमा दर्ज किया गया है और धर्मेंद्र समेत बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम को लगाया है। माना जा रहा है कि गिरफ्तारी के बाद गैंग के और सदस्य पकड़े जायेंगे।

यह भी पढ़ेंःसॉल्वर गैंग का सरगना की तलाश में छापेमारी तेज, डाॅक्टर और बिजनेसमैन के रूप में रहता है मास्टर माइंड

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article