उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जिला गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddh Nagar) के अलग-अलग इलाके से खुदखुशी की कई वारदात सामने आने से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है। बता दें कि एक इंजीनियरिंग छात्र समेत सात लोगों ने 2 दिनों के अंदर खुदकुशी (Suicide) कर ली। वहीं इतने कम दिन के अंदर खुदकुशी के इतने मामले सामने आने से पुलिस भी हैरान है।

पहला मामला गौतमबुद्ध नगर के फेज 3 से सामने आया है जहां रानी कुमारी नाम की 18 साल की एक नवविवाहिता ने खिड़की से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। हैरानी की बात यह है कि रानी की शादी अभी दो महीने पहले ही हुई थी. कुछ दिन पहले ही वह बिहार के छपरा स्थित अपने ससुराल से नोएडा आई थी। दरअसल रानी को शक था कि उसका पति किसी अन्य महिला से फोन पर बात करता है. इस बात को लेकर वह तनाव में रहती थी. जिसके चलते उसने ये कदम उठाया।

वहीं दूसरा मामला सेक्टर-107 स्थित सनवर्ल्ड वनालिका नामक सोसायटी से सामने आया है जहां रहने वाले 20 साल के इंजीनियरिंग के छात्र विराज पांडे ने सोमवार सुबह अपने फ्लैट के 14वीं मंज़िल से छलांग लगा दी। विराज को गंभीर हालत में नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. बता दें कि मृतक सेक्टर-125 स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था।

वही तीसरा मामला फेस-2 क्षेत्र से सामने आया है जहां पंकज नाम के रहने वाले शख्स ने मानसिक तनाव के चलते रविवार को अपने घर पर पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली। वहीं, कासना में रहने वाली 20 साल की लक्ष्मिता ने पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। पति राजेश ने पुलिस को बताया कि लक्ष्मिता ने मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया।

इसके अलावा थाना सेक्टर-49 क्षेत्र के महागुन मॉडर्न सोसायटी में रहने वाली विमला कालरा नाम की 82 साल की बुज़ुर्ग महिला ने अपनी सोसायटी की बिल्डिंग की 20वीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने बताया कि वह बीमारी से ग्रसित थी, जिसकी वजह से वह मानसिक तनाव में थी। वहीं नोएडा के बिसरख इलाके के चिपयाना में रहने वाले 42 साल के विपिन ने मानसिक तनाव के चलते पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली।

इसे भी पढ़ें-देश के अलग-अलग राज्यों में जारी है बारिश का कहर, आकाशीय बिजली ने ली कई लोगों की जान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here