शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में एक व्यापारी की कोई सगी बहन नहीं है, ऐसे में उसने बेहद अनोखे ढंग से रक्षाबंधन मनाया। व्यापारी ने लगभग 3 हजार बहनों से अपनी कलाई पर राखी बंधवाई और सभी बहनों की जीवन भर रक्षा करने और मदद करने का वादा किया। इस दौरान व्यापारी को राखी बांधने आई बहनों को साड़ी और सूट भी उपहार में दिए गए, इसी के साथ सभी बहनों ने अपने भाई की सलामती की दुआ की। दरअसल, चौक कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले पारी नमकीन फैक्ट्री के मालिक विनय अग्रवाल की अपनी कोई बहन नहीं है। इस वजह से हर साल उनकी कलाई सूनी रह जाती थी, इस बार उन्होंने रक्षाबंधन को यादगार बनाने के लिए इलाके की सभी महिलाओं और बहनों को उनकी कलाई पर राखी बांधने के लिए बुलावा भेजा।

राखी बांधने का कार्यक्रम कल शाम से शुरू हुआ और आज भी लगातार जारी रहा। हर बहन ने व्यापारी के माथे पर तिलक लगाकर उनकी कलाई पर राखी बांधी और उनकी सलामती की प्रार्थना की। इस दौरान व्यापारी ने सभी बहनों को साड़ी और सूट उपहार में दिए। व्यापारी ने अपनी बहनों के लिए वादा किया है कि जब तक वह जिंदा है, तब तक अपनी बहनों की सुरक्षा और मदद के लिए हमेशा खड़े रहेंगे। बहनों ने भी व्यापारी के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। राखी बांधने के दौरान व्यापारी बेहद भावुक नजर आए।

बताते चलें कि भारत पर्वों या त्योहारों का देश हैं। साल के हर महीने में कोई न कोई पर्व होता है जिसे लोग उत्साह से मनाते हैं। कुछ त्योहार क्षेत्रीय स्तर पर मनाया जाता है तो कुछ त्योहार पूरे देश मनाया जाता है और ‘ग्लोबल विलेज’ के दौर में हमारे कई त्योहार देश की सीमा पार कर विदेशों तक में मनाये जा रहे हैं। रक्षाबंधन ऐसा ही त्योहार है, रक्षाबंधन सबसे खास त्योहारों में से एक है जो भाई-बहनों के बीच के बंधन को मनाता है। इसे राखी के रूप में भी जाना जाता है।

इसे भी पढ़ें:लालू के लाल ने ठोंकी ताल, भाइयों में अनबन से राजद अध्यक्ष फिर मुसीबत में