आज से 22 साल पहले ही शुरू हो गई थी विकास दुबे और देवेंद्र मिश्रा के रंजिश की कहानी..जानें पूरा मामला 

भले ही कानपुर एनकाउंटर (kanpur encounter) का मुख्य आरोपी रहे विकास दुबे (Vikas Dubey) अब पुलिस एनकाउंटर (Police encounter) में मारा गया हो, लेकिन बावजूद इसके पुलिस की तफ्तीश (Police investigation) का सिलसिला जारी है। तफ्तीश की इस कड़ी में कई हैरतअंगेज खुलासे हो रहे हैं, जो यकीनन हैरान कर देने वाले हैं। वहीं अब खबर है कि 2-3 जुलाई की दरम्यिानी रात को कानपुर एनकाउंटर के दौरान एसओ देवेंद्र मिश्रा (SO Devendra Mishra) की हत्या करने वाले विकास दुबे की देवेंद्र से पुरानी रंजिश रही है। यह रंंजिश एक नहीं दो नहीं बल्कि 22 साल पुरानी रही है। इसी 22 साल पुरानी रंजिश में धधकते हुए विकास दुबे ने एसओ देवेंद्र मिश्रा की हत्या कर दी है। हालांकि पुलिस पूछताछ में उसने इस बात को कुबूल किया था कि उसके साथियों ने देवेंद्र मिश्रा के पहले पैरा काटे थे। इसके बाद गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी।

ये भी पढ़े :20 करोड़ का घर..14 देशों की यात्राएं करने वाला..विकास दुबे की थाईलैंड में भी है प्रॉपटी..शुरू होगी जांच 

1998 से शुरू हुई थी रंजिश की कहानी 
गैंगस्टर विकास दुबे और देवेंद्र मिश्रा के रंजिश की कहानी को समझने के लिए आपको आज से 22 साल पहले जाना होगा। दरअसल, साल 1998 में कानपुर की कल्याणपुर पुलिस विकास दुबे को गिरफ्तार करने पहुंची थी। इस दौरान कल्याणपुर थाने में तैनात इंस्पेक्टर हरिमोहन यादव और विकास दुबे के बीच भिंडत हो गई थी। इस बीच उस समय कल्याणपुर थाने में ही बतौर सिपाही तैनात रहे देवेंद्र मिश्रा ने इस भिंडत को देखते हुए विकास पर फायरिंग की.. जो मिस हो गई। इसके बाद विकास ने उस दौरान सिपाही रहे देवेंद्र पर जवाबी फायरिंग की.. जो कि मिस रह गई। इसके बाद देवेंद्र ने विकास को पकड़ लिया और इस तरह से विकास उस दौरान पुलिस गिरफ्त में आने में सफल रहा था। उसके पास से 30 पुडियां स्मैक और बंदूक बरामद किए गए थे। बताया जाता है कि उसी दिन से विकास दुबे और देवेंद्र मिश्रा के बीच रंजिश की कहानी शुरू हुई थी।

पुलिस के सामने स्वीकारी थी बात 
बता दें कि इस कानपुर एनकाउंटर में मुख्य आरोपी रहे विकास दुबे जब पुलिस की गिरफ्त में आया.. तो उसने पुलिस पूछताछ में भी इस बात को स्वीकार किया था कि देवेंद्र मिश्रा केे साथ उसकी पुरानी रंजिश थी और विकास दुबे खासकर इस बात से चिढ़ गया था कि देवेंद्र मिश्रा ने उसके पैरों के बारे टिप्पणी करते हुए कहा था कि एक पैर खराब है ही.. दूसरा भी खराब कर दूंगा.. देवेंद्र की इस टिप्पणी से विकास और उसके साथी खफा हो गए थे, जिसके बाद कानपुर एनकाउंटर के दौरान विकास के साथियों ने देवेंद्र मिश्रा का पैर काट दिया था।

ये भी पढ़े :विकास दुबे की मौत से बौखलाई पत्नी, भड़कते हुए दी बंदूक उठाने की धमकी, कहा-सजा..

Related Articles

Stay Connected

1,092,278FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles